You are currently viewing 17 Best चेतना की अवस्थाएं पर लेख लिखिए | Maps Of Consciousness
चेतना की अवस्थाएं

17 Best चेतना की अवस्थाएं पर लेख लिखिए | Maps Of Consciousness

  • Post author:
  • Post category:LEARNING
  • Post comments:0 Comments
  • Reading time:4 mins read
  • Post last modified:October 30, 2022

एक समय में नेपोलियन के maps of consciousness यानि की Vibration बहुत ज्यादा ऊपर थे । करीबन 450 के ऊपर थे जिसके कारन से वे बहुत ही कम समय में सैनिक के रूप में था सके बाद में Maps Of Consciousness बढ़ने के बाद में वह सैनिक से कमांडर बना । वे एक अच्छा गणितिज्ञ , Strategist , रणनीतिज्ञ में महारत हासिल था लेकिन जैसे ही उन्हें अपने आप को यूरोप का एक मात्र राजा घोसित किया उसके बाद में 

उसका अहंकार फूल गया और उसकी चेतना का स्तर 450 से गिरकर के 200 से भी कम हो गया । आप इस पोस्ट में आगे देखेंगे की इस निचले स्तर में व्यक्ति कैसे अंहकार में डूब जाता है और डर से ग्रस्त हो जाता है और उसकी बुद्धि उस समय काम करना बंद कर देती है । इसके बाद से ही नेपोलियन का एक बड़ा सम्राज्य का पतन शुरू हुआ और वो कमजोर राजाओ से भी एक के बाद एक करके हारने लगे ।

डा हाकिंस अपने ख़िताब Maps Of  Consciousness में दूसरा उदाहरण हिटलर का देते है । हिटलर का शुरुआत का स्तर 450 के तक़रीबन था जो की वेसनरिस  और Genius का होता है . हिटलर शुरुआत में तो केमिकल इंट्रस्ट्री , ऑटोमोबिल , इंजीनियरिंग के जरिये जर्मनी को आगे बढ़ाना चाहता था लेकिन अहंकार और जोश से भरी नफरत ने उन्हें उनके 450 के स्तर से गिरकर के 401 पर आ गया । जंहा अंत में हिटलर ने आत्महत्या कर ली .

दोस्तों इस पोस्ट को पढ़ने के बाद में आप आसानी के साथ में आंकलन लगा सकते हो और कह सकते हो की कोई व्यक्ति सफल क्यों है , उनके सफलता के पीछे का कारण क्या है क्योंकि वो अला Energy Field में या लेवल में आ गया है ।

Energy Field या energy level क्या है ? 

जेल में बंद कड़ियों से लेकर के दुनिया के TOP एर्निंग लीडर तक डा डेविड हाकिंस ने 2.250 लाख के वाईब्रेसन  को नापे है और उन्हें एक टेबल में केलिब्रेट  अर्थात विभाजित किया । इस काम को करते करते उन्हें तक़रीबन 25 साल लग गए । इस Research के अनुसार इंसान एक चेतना स्तर Energy Field में जाता है । चेतना का स्तर 20 यानि शर्म से लेकर के 1000 यानि मुक्ति Self Realization होता है ।

Consciousness यानि की चेतना जिस भी Energy Field में फंसी होती है इनसे उसी के स्तर में सोच पाता है । ये स्तर ही उनके लिए सच्चाई है । इंसान इसी स्तर से दुनिया को देखता है और उसी स्तर से अनुभव करता है ।

चेतना की अवस्थाएं यह सब कैसे होता है ?

1 . Shame (शर्म) level या Energy Field 

इसे जानने के ले हम आपको कुछ आगे उद्धरणों से समझेंगे । मृत्यु का Energy Level है शून्य और इसके बहुत ही निकट है शर्म । मात्र 20 लेवल में । शर्म एक Passive Death है । जो लोग शर्म के level या Energy Field में ज्यादा देर तक रखते है वो सुसाइडल हो जाते है । इस जोन में बार बार आने वाले धीरे धीरे अपने अंदर आने वाले हर अच्छी चीज को मार देते है । और इस स्तर में कई साडी मानसिक बीमारी होती है ।

जिन बच्चो को बचपन में शर्म बार बार महशुश कराई जाती है उन्हें वो दुसरो लोगो हो या जानवरो के प्रति निर्दयी हो जाते है । इसलिए दोस्तों कभी अपने Juniors शर्म महसूस मत कराओ ।

यंहा पर इंसान को लगता है की दुनिया में बुराई ही बुराई है और वे अपने आप को कोई भी छोटे मोठे परेशानी में या परेशानी होने पर हमेशा शिकायत करते रहते है .

2 . Guilt (अपराध बोध) 

यह मृत्यु और शर्म से थोड़ा सा ऊपर है Guilt जिसका Energy Level है 30 होता है । जो लोग subconsciously खुद शर्म और अपराध बोध में रहते है वो दुसरो को सजा दनि की हमेशा कोशिश करते रहते है । वो हमेशा बदला लेना चाहते है । जेल में अक्सर देखा गया कुछ कैदी मिलकर के दूसरे ज्यादा हत्या और ज्यादा बुर कैदी को सजा देने की कोशिश करते है ।

terrorist , serial killer अपराधी आदि guilt के अंदर गिरे जाते है । ऐसे लोगो को कभी भी जिंदगी में कुछ भी मिल जाए लेकिन उन्हें कभी उन चीजों से शांति यही मिलती है इसलिए ऐसे लोग ड्रग्स आदि चीजों से अपने मन और दिमाग को हमेशा का बेहोश करने की कोशिश करते है ।

3 . Apathy  (आशाहीन हो जाना)

guilt से थोड़ा ऊपर  है Apathy जसिका अर्थ है आशा हीन हो जाना । जिसका Energy Level 50 होता है । इस स्तर में इंसान दुसरो को नुकसान तो नहीं पहुंचाते है लेकिन अपना खुद का नुकसान जरूर करते है और वे खुद निष्क्रय हो जाते है । ऐसे स्तर के लोगदिन भर लेते रहते है और उसे कुछ करने का मन नहीं करता है । । इस स्तर में इंसान का आत्म विश्वाश धीरे धीरे काम होते जाते है और उन्हें दुसरो पर और खुद पर भी अपन विश्वाश नहीं होता है । जैसे की इस स्तर में भिकारी , Homeless , चोर आदि इसी स्टार में गिने जाते है ।

यह बड़ी दहिनीय स्थिति है क्योकि इंसान खुद को खुद को ऊपर उठाने का हिम्मत को पूरी तरीके से खो चूका होता है  ।

4 . Grief (शोक)

Grief जिसका स्तर होता है 75 होता है । ऐसे स्तर के अदमीअपने आप को खुछ खो जाना पर या अपना कोई भी नुकसानो जाने पर हम लोग इस Energy Level में आ जाते है । इस समय हमारे पास में केवल दुःख दुख  ही  होता  है । और जो लोग Grief  ले level में ज्यादा देर तक अपने आपको रोक कर के रखे रहते है ऐसे लोग खुद डिप्रेस मे चले जाते है । इस Grief level में जुआरी  , कर्ज मे डूबने वाले लोग इसी level में फस जाते  है ।

ऐसे स्तर के लोग अपने जीवन को फैलियर मन कर के सब उम्मीद को छोड़ बैठते है जिसके कारण के इनसे इनके दोस्त , नौकरी , परिवार सब कुछ इनका चला जाता है ।


The Truth Of Life – BUDDHA STORY | Rare stories of Buddha

Rare Stories Of Buddha PART – 2 | How To Reach Your Goal


5 . Fear ( डर ) 

जिसका Energy Level 100 होता है । इस स्टार में थोड़ी LIFE energy में होती है । जिसके कारण से लोग बहुत कुछ करते है । लेकिन इस mental state में खतरा और पेशानी दिखती है जिस करना से इंसान हमेशा चिंता में में फंस के रहता है । इस स्तर में लोग को दुनिया अनजान और डरावनी दिखाई देने लगाती है । अनजान में बैठकर के गली देने वाले लोग इंटरनेट में बैठकर के लोग इस स्तर में आते है जो डर और शर्म के बिच में होते है  ।

शर्म और डर की वजह से लोग अपने जीवन में ज्यादा देर तक अपने जीवन में positivity बनाये नहीं रखते है । इनको पुरे समय ऐसा लगता रहता है की मै कुछ कर नहीं सकता । इस स्तर से निकलने के लिए खुद को प्रेणा लेना जरुरी होता है और उन्ही प्रेणा से एक्शन लेकर के वे इस स्तर से उठ सकते है ।

6 . Desire इच्छा 

जिसका स्तर है 125 है । इस स्टार में energy और अधिक ऊपर उठती है । जो लोग डर से ऊपर उठते है उनमे कुछ पाने की इच्छा होती है ऐसे स्तर के लोगो के लिए पैसा , प्रसिद्धि आदि जीवन में आगे बढ़ने का मकसद होता है । जो उनका जीवन को बेहतर करता है लेकिन desire के पीछे भी डर कुछ  न कुछ छिपा होता है । कंही हमने ब्रांडेड कपडे नहो पहने तो लोग क्या सोचेंगे । desire एडिक्शन भी है जंहा मटेरियल डिजायर और शारीरिक सुख से ज्यादा गहराई से हो जाते है । 

इस दुनिया में कुछ ऐसे ही लोग है जो कलेक्शन इकठ्ठा करने के लिए 200 से अधिक कर खरीद लेते है लेकिन वे अंदर से खुश नहीं है । क्योंकि डिजायर में कभी मन नहीं भरता है । इन Energy Field में इंसान बहुत ही frustration महशुस होता है । क्योंकि उसकी बहुत साडी कामनाये कभी भी पूरी नहीं हो पाती है ।

जब desire पूरी नहीं होती है ऐसे लोग अपने आप को निराशा के रूप में यद् डर के रूप में अपने आप को बदल लेता है । या anger या frustration में बदल जाते है ।

7 . Anger क्रोध 

क्रोश का Energy Level 150 होता है । यह स्तर मृत्यु और निराशा से कंही अधिक बेहतर होता है । लेकिन उसके बाद भी यह जोन भड़काऊ और अस्थिर जोन माना गया है । और इस जोन में distractive action ज्यादा होते है । जो इंसान बार बार इस स्टेज में आता है वे खुद को गिरा हुआ पाता है क्योंकि इस जोन में बुद्धि साथ नहीं देता है । जिन लोगो को गाइडलाइन मिलती है जो अपने गुस्से को कंट्रोल करके उन्हें सकारात्मक एक्शन में बदलते है वो जाते है अगले Energy Level में ।


BEST TOP 5 RJ Kartik Story Lyrics In Hindi

BEST 10 Gautam Buddha Ki Shikshaprad Kahani


8 . Pride अभिमान 

Pride या अभिमान का Energy Level होता है 175 . डा हाकिंस कहते है की इस vibration में इतनी energy होती है की ये पूरी US marine cop को चला सकती है । आज दुनिया में ऐसे कई लोग है pride zone में जीना चाहते है क्योंकि इस zone में सर , गुस्से और शर्म से पूरी तरीके से आजादी मिलती है । इस स्तर में इंसान कुछ बड़ा बनाना चाहता है । लेकिन इस लेवल में भी कुछ परेशानी भी है । pride बाहरी उपलब्धि यानि की external identity पर पूरी तरीके से जुड़ा होता है । बाहरी हालत बदलने वॉर फिर वापसी गिरने की सम्भावना  ज्यादा होती है ।

अभिमान में इंसान अपने आप को इंसान अपने आप सही और अपने आप को बड़ा समझने लगता है । और दुसरो को तुच्छ के नजरो से देखता है । जब सामाजिक चेतना का स्तर अभिमान का होता है तो उसे न्याय से ज्यादा इंटरेस्ट सजा में होता है । लोग सलुसाशन के जगह में encounter करना पसंद करते है ।

9 . Courage साहस

चेतना की अवस्थाएं
चेतना की अवस्थाएं

Courage साहस का Energy Level 200 होता है । इस स्टार में इंसान के जीवन में बढ़ा परिवर्तन होता है । इस स्तर में वो धीरे धीरे उठना शुरू करता कई । और उनके निचे फसने से चांसेस कम होते जाते है । क्योंकि यंहा पर चेतना साहस का रूप ले लेता है । यंहा पर इंसान खुद की गलतिओ को देखने के कारण और उन्हें और अधिक बेहतर करने का साहस रखता है । इस स्तर में डर , शिकायत और घमंड कम होने लगते है । जिसके कारण से इंसान बहुत ही ज्यादा प्रोडक्टिव हो जाता है ।

इस कारण से इस लेवल को सामर्त्य का level भी कहा जाता है । यंहा पर इंसान के दृढ निश्चय और धैर्य का विकास होता है । यंहा इंसान जीवन में बहुत कुछ करना चाहता है । दुनिया देखना चाहता है , यंहा पर इच्छा तो है पाने से ज्यादा इच्छा की है ।

जो परशानी 200 से नीचे के लोगो को रोकती है वो यंहा इस स्तर में प्रेरणा का स्वरुप बन जाता है । इंसान को लगता है की अपने दम पर बहुत कुछ किया जा सकता है । आप देखते होंगे की दुनिया में जितने भी कर्मशील लोग है वे लोग इस लेवल में काम करते है ।

10 . Neutrality 

इसका लेवल होता है 250 होता है । इस लेवल पर इंसान के नजरिये में बढ़ा बदलाव आता है । इससे पहले केवल इंसान को केवल success और failure , अच्छा या फिर बुरा दीखता है लेकिन इस स्तर पर उन्हें वो समझने लगता है की इंसान और जीवन के और प्रकृति के कई रंग है । और एक result के पीछे में कई कारण होते है । इस कारण से वे अच्छा , बुरा , सक्सेस , फेलियर , का टैग लगाना बंद कर देता है ।

इस स्थिति में इंसान सामर्थ्य ायनी की inner comeless का अनुभव करना सीखता है , ऐसे इंसान नॉन जजमेंटल हो जाता है । इस स्तर पर इंसान दुसरो के एनर्जी field को भी समझने लगता है ।

11 . Willingness

willingness का Energy Level होता है 300 . जोकि पॉजिटिव एनर्जी से भरा हुआ होता है । यहां इंसान को हर जगह अच्छाई और मौके दिखने लगते हैं । वह मुश्किलों से परेशान नहीं होता बल्कि बिगड़े हुए काम को भी बना लेता है । अधिकतर एंटरप्रेन्योर इस लेवल पर होते हैं ।

अगर इस Energy Level पर इंसान टीका रहे तो वहां और अधिक ऊपर जाता है उन्हें प्रमोशन और विरोध बहुत जल्दी होती है क्योंकि willingness resistance का उल्टा है। इस zone में लोग बहुत ही अच्छा स्टूडेंट होते हैं क्योंकि वे किसी भी चीज को बहुत आसानी के साथ में सीखते हैं ।


Best 5 example How To Stop Negative Overthinking

Best 5 example How To Stop Negative Overthinking

what is the law of attraction || law of attraction techniques


12 . Acceptance (स्वीकार)

इसका एनर्जी level 300 होता है । इस स्तर में इंसान की बुद्धि के वाइब्रेशन में बड़ा बदलाव आता है । वह स्वीकार करने लगता है । कि सब कुछ उसकी सोच और विचारों से प्रकट हो रहा है । और उसकी जीवन के अनुभव subconsciousness का ही रूप है । यह स्थिति प्राइडya अभिमान का उल्टा है ।

pride में इंसान अपने Achivement को देखकर के खुश होता है । और इनके घटने में दुखी होता है । बल्कि acceptance में pride जितना ही active होता है । लेकिन यंहा इंसान जनता है की सफलता पाई नहीं जाती बल्कि अंदर से पैदा होता है । ये energy zone सेल्फ discipline और self mastery की होती है । आप देकते होंगे की कई आर्टिस्ट , मूर्तिकार mentors इस स्तर के होते है ।

जब समाज के लोगो का स्तर acceptance होता है तो लग मदद मांगने की जगह में मदद देने लगते है , नकारी माँगन के जगह में बिज़्नेस खड़ा होने लगते है ।

13 . Reason (कारण)

इसका Energy Level होता है 400 . इस लेवल में intelligence और reason की शक्ति के emotion से ताकतवर हो जाते है । इस energy  level में बड़े nobel prize winners , scientist दार्शनिक , डॉक्टर्स , जज का है । जो जटिल से जटिल प्रश्नो को और कई सारे आइडियाज को आसानी के साथ में समझ सकते है । और जल्द से जल्द बुद्धिमानी निर्णय ले सकते है ।

stoics और stoicism का Energy Level 400 पर है । अन्य Energy Level की भांति ही इस energy लेवल की भी लिमिट है यंहा पर बच्ची concept को पार नहीं कर पाती है । यानि की इंसान बिना कांसेप्ट के कुछ भी समझ नहीं पाता है , ेल लेवल को पार कर बहुत ही ज्यादा कठिन है । केवल और केवल 0.4 % लोग ही अगले स्तर को छू पाते है ।

14 . Love ( प्रेम )

लव यानि प्यार का Energy Level 500 होता है । यह वह लव नहीं है  जंहा 2 लोग की जरुरत है ये self image वाला love  भी नहीं है । ये प्रेम intence फीलिंग लव है । जो इंसान के साथ में हमेशा , शोते , जागते , उठते , बैठते बनी रहती है । बहार कुछ भी ये नहीं बदलते है । भक्ति , devotion , सेवा एक Energy Field में गिने जाते है ।

rumi इस स्टेज के तरफ इशारा करते हुए कहते है की कान्हा भी रहो , जो भी करते रहो , प्रेम में रहो , . इस स्थिति में इंसान समझता है की प्रेम और आनंद मन के किसी कोने से आता है । ऐसे लोगो के पास में रहने मात्र से मन को शांति मिलती है । जब प्रेम बढ़ता जाये पुर तरीके से बाद जाए तो एक ने स्तर का उदय होता है ।


Best 5 Example The Biggest Secret Of The Universe

The Best example How To Increase Intelligence | increase iq


15 . Joy आनंद

इसका Energy Level 540 होता है । जॉय जो मानव के सरीर में पुरे समय में बना रहता है । ये अचानक से पैसा नहीं होती है बल्कि यह धीरे धीरे बढ़ता है ऐसे लोग natural Healers होते है । यह स्तर अध्यातिम संतो का होता है । इनके पास में असीम धैर्य और प्रेम होता है । इन लोगो का प्रभाव को आप आसानी के साथ में समाज के लोगो को देखकर के आंकलन लगा सकते है ।

यंहा invisual will पूरी तरह से universal will में मिल जाती है यानि इनकी इच्छाएं कुछ भी नहीं होते है । इसलिए manifestation अपने आप होते है बिना किसी इच्छा के चीजे होने लगती है । क्योंकि vibration , creation का भी होता है । यंहा पर इंसान दुसरो के लिए जीता है . उसे सब कुछ आअनन्द में डूबा दीखता है । और जैसे ही ये Energy Level और अधिक ऊपर उठता है वैसे ही वह और अधिक परमानंद का रूप लेता जाता है ।

जंहा से मुक्ति , enlightenment , निर्वाण के Energy Level शुरू होता है ।

16 . Pease शांति 

इसनका Energy Level 600 होता है । इस Energy Level में मैं और तुम शब्द खत्म हो जाते हैं । यानी कि देखने वाला और दृश्य एक हो जाते हैं । यहां पर अंदर से पता चलता है की सब कुछ चेतना है । यंहा पर रहने वाले लोग गुमनाम  रहकर  दुनिया के बेहतरी के लिए काम करते है । 

डा हाकिंस कहते है की इस स्थिति में यंहा पर सब कुछ flow में होता है । कोई आश्चर्य नहीं कोई घटना नहीं । मन पूरी शांति में अपने स्थान में घुल चूका होता है । बस सब कुछ चैतन्य शांति में हो रहा है ।

17 . Enlightenment (प्रबोधन)

Enlightenment का स्तर होता है 700 से लेकर 1000 तक का होता है । परम शांति से इस level में अंतर बीएस इतना है की इस Energy Field से कई लोग प्रभावित होते है । यंहा Energy Field का प्रभाव समय और space को पार करते हुए पुरे ब्रम्हांड पर होता है । इसमें हिसाबसे अधिकतम level है 1000 होता है । और जिनका स्तर 1000 level का होता है उन्हें अवतार पुरुष mana जाता है । इनके चेतना के स्तर और इसके शब्द का असर हजारो साल तक रहता है । 

mans of consciousness में चेतना के मात्र दो मुख्य स्तर है । पहला स्तर है courage :- यंहा सनसन blame को छोड़कर के खुद को बेहतर बनाने की शुरुआत करता है और स्वयं जिम्मेदारी लेता है ।

दूसरा लेवल है 500 यंहा से इंसान अनंत ब्रम्हांड से जुड़ने लगता है इस level में इंसान जजमेंट छोड़ देता है जिससे वो अतीत और बुरे अनुभव से दूर हो जाता है उसकी बुद्धि intellect और reason से ऊपर उठ जाता है ।

डेविड हॉकिंस कहते है की इस समय दुनिया के चेतना का स्तर 200 के आसपास है और दुनिया में 85% लोगो का consciousness 200 से निचे के है मतलब लोग ऐसी मानसिक अवस्था में है की अगर दिशा न दी जाए तो लोग खुद को पुरे पृथ्वी को ही नस्ट कर ले । इस प्रमुख उदहारण है प्लास्टिक का प्रदूषण जिसे चाहे तो इंसान कम सकता है लेकिन 200 से निचे हम इंसान अनजान और कमजोर बने हुए है । मनुष्य को विनाश से बचाते है और समाजिक चेतना का स्तर ऊंचा उठाते है ।


what happens to a gold loan if the borrower dies in india

Top 7+ Motivational Story In Hindi For Success 2022

IAS Officer Motivational Story In Hindi || IAS Motivational Story

Leave a Reply