छत्तीसगढ़ी विशेषण || Chhattisgarhi Visheshan || Chhattisgarhi Adjective

छत्तीसगढ़ी विशेषण || Chhattisgarhi Visheshan || Chhattisgarhi Adjective

 परिभाषा – • संज्ञा सर्वनाम की विशेषता बताने वाली शब्द को विशेषण कहते हैं जिसकी विषेशता बताई जाती है उन्हें विशेष्य  कहते है ।
• छत्तीसगढ़ी में विशेषण संज्ञाओं के लिंग वचन से अनिवार्यता प्रभावित नहीं होते ।
          जैसे – सुघ्घर बाबु , सुघ्घर नोनी , सुघ्घर नोनी मन ।
     किंतु अकारांत विशेषण स्त्रीलिंग के साथ प्रयोग होने पर बदल जाते हैं –
          जैसे – मोटला टुरा , मोटली टुरी , करिया-कारी ।

छत्तीसगढ़ी विशेषण के प्रकार

1. गुणवाचक विशेषण
• संज्ञा और सर्वनाम शब्द के गुण दोष का बोध कराने वाले शब्द को गुणवाचक विशेषण कहलाते हैं ।
     जैसे – सादा , तात , जुड, सीधवा, जुनना , नवा, टेडगा, सुघ्घर ।
         क . कालवाचक – नवा , जुन्ना, अगीत, पछीत
         ख . आकारकवाचक – चेपटा, चरकोनिया, टेडगा, गोलवा, छोट, छोटे, छोटका, छोटकी, चाकर, चकरी, उसार, लाम, लामा, लम्मा, बड़, बड़का, बड़े ।
         ग . रंगवाचक – करिया, कारी , पिंवरा , हरिहर , लाली, ओग्गर , धौरा धौरी , पंडरा , पंडरी

         घ . दशावाचक – अलाल, दूबर, पातर, टघले, सुक्खा, गील, हरु , बने बने , करु, तात , तीपत।

        ङ . दिशा वाचक – उत्ती ( पुर्व) , बुडती (पस्चिम), रक्सहु ( दक्षिण) , भंडार (उत्तर), डेरी ( बांया) , जेवनी ( दांया) ।
        च . स्थान वाचक – ऊंच, नीच खाल्हे, पहाड़ी , मैदानी।
        छ . स्वभाव वाचक – सिधवा , लबरा , दोखहा, मटमटहा, मुचमुचहा, अप्पत , गिजगिजहा ।
        अन्य – बने , नंगद, सिरतों, सिरतोन, घिनहा ।

 2 .संख्यावाचक विशेषण
• जो शब्द संज्ञा या सर्वनाम के संख्या सम्बन्धी विषेशता का बोध करते है उसे संख्यावाचक विशेषण कहते है । 
       जैसे – एक, दु, तीन, सात
• इनमें और प्रत्यय लगाकर निश्चिता प्रदान की जाती है।
       जैसे – एको, दुओ, दुनो, तीन्नो, सातों, आठो ।
• संख्या के अंश निम्न प्रकार कर पाए जाते हैं –
      जैसे – पाव, आधा, पौन, सवा, डेढ़, अढ़ ई, अउठ ।

संख्या
वाचक विशेषण के प्रकार

क. अनिश्चित संख्यावाचक हेतु
• अनिश्चित संख्या दर्शाने के लिए एकन, अकन, एक, अक, आदि लगाते हैं ।
        जैसे – पांच एकन ( लगभग पांच )
                कोरी अकन ( लगभग बीस )
                दसेक ( दस के लगभग)
ख. निश्चित संख्यावाचक हेतु
• निश्चित संख्या दर्शाने के लिए ठन, ठी, ठो, ठिन, ठक, झन, झिन, आदि जोड़ते हैं।
       जैसे – एक ठी पेन , दु ठन आमा।
• झन झिन का प्रयोग व्यक्तियों के संदर्भ में किया जाता है।
       जैसे – दु झन मनखे, सात झन नोनी ।

. ऋणात्मक संख्यावाचक हेतु
• इसमें ऋणात्मक संख्या के लिए कम का प्रयोग होता है ।
      जैसे – एक कम चार कोरी ।

घ. समूह संख्यावाचक
• इसमें संख्याओं के समूह की ओर संकेत किया जाता है।
     जैसे – कोरी , दरजन , सैकडा ।

ड. क्रम वाचक
• क्रम सूचक को दर्शाने के लिए नीचे दिए का वाक्य को ध्यान में रखें।
जैसे – पहिला, पहिलावंत, दूसरा दूसरावंत, तीसरा।

3. परिणाम वाचक विशेषण
• जिस विशेषण शब्द से परिणाम या मात्रा का बोध हो उसे परिणाम वाचक विशेषण कहते हैं।
जैसे – अउर , खुबे, थोरे, थोरिक, थोरकिन, थोरकुन, जमा, जम्मा, जम्मो, सब, सबों, सब्बो, ततका, जादा, आधा, निचट, थोरहे , अंजरी, मुठा, चुरुवा, बीता, पसर ।

• वजन या माप के आधार पर विशेषण
जैसे- काठा, खण्डी, गाडा, पईली।

परिणाम वाचक विशेषण के प्रकार
ा.) निश्चित परिणाम वाचक –
छटाक भर घीव ,
पांच किलो चाउर,
दस टोला चांदी,
कुरा      –      एक कुरो मुर्गा ।
बटकी     –      बटकी भर बासी
चिमटी     –      एक चिमटी नून
मुठा        –     एक मुठा चाउर

b.) अनिश्चित परिणाम वाचक –
ढेर सारा मक्खन
kuchh  पानी
kothi में अब्बड़ धान हावय

 

4. तुलनात्मक विशेषण
• जिस विशेषण शब्द से एक वस्तु के गुण, भाव की तुलना दूसरे वस्तु से हो उसे तुलनात्मक विशेषण कहते हैं।
• छत्तीसगढ़ी में तुलनात्मक विशेषण बनाने के लिए ले प्रत्यय का उपयोग ज्यादा होता है।
जैसे – ओकर ले बडका , सबों ले अच्छा ।

छत्तीसगढ़ी विशेषण सूची

नीचे कुछ सामान विश्लेषण एवं उसकी हिंदी अर्थ दिए जा रहे हैं
          छत्तीसगढ़ी                                     हिंदी
          बने, नगंद, नगद            –                 अच्छा
             मझिला                     –          मध्यम , मंझला
       छोट, छोटे , छोटका           –                 छोटा
         नान , नान्हे, ननकी           –                 छोटा
         लाम , लामा, लम्मा           –                  लंबा
        चाकर , चकरा , उसार       –                 चौडा
                निचट                     –               बिल्कुल
          पीयर, पिंवरा, पेरा           –               पीला
            करिआ , कारी             –               काला
        पारा , धौरी, धौरी              –               धवल
               उज्जर                      –            उज्जवल
              हरियर                      –              हरा
         लाल , लाली                    –              लाल
       तात, तिपत, तपत               –        ताता , तप्त
         बुधियार , चतुरा               –       चतुर, बुद्धिमान
    बहुत, बहुते, खुब, खुबी          –         बहुत, खूब
    अघात , थोर, थोरे, चिटिका     –              थोड़ा
                आखरी                   –              अंतिम
         सिरतो, सिरतोन               –              सच
    बोझ, सोज्झ, सोज, सलख       –              सच
           टांठ, टांट, पोट्ठ               –              मोटा
             ढील, ढीलंग                 –              ढीला
       पातर, सपुर, महीन              –      पतला, महीन
              पनियर                       –             पतला
            हरु, हलका                   –            हल्का
             गरु , भारी                   –            वजन
          आमट, अम्मट                 –              खट्टा
            मिठ्ठ, मीठ                     –               मीठा
               करु                          –              कढवा
             चुरपुर                         –              चरपरा
             कस्सा                         –              कसैला
             सीठ्ठा                          –                सीठा
             सुग्घर                         –                सुघड
खिक्क, खिक्ख, अलकरहा          –                खराब
     जमा, जम्मा, जम्मो               –              सब, सबो,
      गजब, गंज, बढियन            –                 बहुत
             खर                          –                 खारा
            जुड                           –                 सुस्त
         गलियार                        –               गरियार
          चेम्मर                         –                 चिमड़
       कचलोईया                     –                  कच्चा
         खनहन                       –                 क्षीणहीन

छत्तीसगढ़ी विशेषनो का निर्माण

छत्तीसगढ़ी विशेषण
छत्तीसगढ़ी विशेषण

छत्तीसगढ़ी में ई, ए, हा,ऊ, उ, आ, औ, आऊ, आहु, रु, इया , उल, एला, ऐला, छुर, तुर, सुर आदि प्रत्यय लगाने से विशेषणों का निर्माण होता है –

– धरम (धरमी), पाप (पापी) , देस (देसी), बल (बली) , कपट (कपटी)
– भूख (भूखे) पियास (पियासे) भूल (भुले)
हा – रंग (रंगहा), मरकट (मरकटहा), सोन (सोनहा), गुर (गुरहा) , तेल(तेलहा), अम्मठ (अम्मटहा)
उआ, ओ, आ – घर ( घरोआ , घरो , घरउला )
ए, आउ, रू – घर ( घरु, घराऊ ) , मया (मयारु) , दुध (दुधारु)
इया/इहा – सहर (सहरिया), रतनपुर (रतनपुरिया)
इल, उल, एल, ऐला – निरोग (निरोगिल), चमक (चमकुल), बन(बनेला), गोबर (गोबरैला)
छुर,तुर,सुर – नुन (नुनछुर), गुर(गुरतुर), आमा (अमसुर)

संज्ञाओं के साथ विशेषण – गंवई असन, गंवई कस
सर्वनाम के साथ विशेषण – मोर, एसन, मोर असन, मोर कस
विशेषण के साथ विशेषण – बड़ एकन, बड़ अकन, बड़ कन, बड़ एक, बड़ अक, बड़ कुन, बड़किन
समान के अर्थ में – एसन, असन, अस, सन, कस, कसन ।


हमारी छत्तीसगढ़ी VYAKARAN 

छत्तीसगढ़ी सर्वनाम || Chhattisgarhi Sarvanam

छत्तीसगढ़ी संज्ञा || Chhattisgarhi Sangya || Chhattisgarh Noun

छत्तीसगढ़ी वर्णमाला स्वर व्यंजन | Chhattisgarhi Bhasha Swar Yyanjan

Chhattisgarhi Rajbhsha Aayog Kya Hai || छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग

Fruit Names In Chhattisgarhi || छत्तीसगढ़ी भाषा में फलो के नाम

Chhattisgarhi Me Pakshiyo Ke Naam |पक्षियों के नाम-छत्तीसगढ़ी शब्दावली

पशुओं के नाम छत्तीसगढ़ी भाषा में || Pashuo Ke Nam Chhattisgarhi Bhasha Me

Vegetable Names In Chhattisgarhi || छत्तीसगढ़ी में सब्जियों के नाम

Chhattisgarhi Me Sharir Ke Angon Ke Naam|छत्तीसगढ़ी अंगों के नाम

Chhattisgarhi Rishte Naate Ke Naam Hindi/ENGLISH

150+ छत्तीसगढ़ी जनउला/पहेली || Chhattisgarhi Janaula

टॉप100 छत्तीसगढ़ी नाचा पार्टी || Chhattisgarhi Nacha Party

121+ CG Janula छत्त्तीसगढ़ कहावत/जनउला/अउ मुहावरा

छत्तीसगढ़ की भाषा ||16 CG Boli || Chhattisgarhi Bhasha

1001+ छत्तीसगढ़ी शब्दकोश || Chhattisgarhi Shabdkosh


 

छत्तीसगढ़ी कहानिया जो आपके दिल छू लेगी 

Top 5+छत्तीसगढ़ी कहानी | cg kahani | cg story

10+ छत्तीसगढ़ी कहानी | cg kahani | chhattisgarhi kahani

1+ छत्तीसगढ़ी लोक कथा || chhattisgarhi lok katha 

Top – 2 छत्तीसगढ़ी कहानी


छत्तीसगढ़ी विशेषण || Chhattisgarhi Visheshan || Chhattisgarhi Sarvanam Aur Visheshan || Chhattisgarhi Vyakaran Visheshan Shabd Hindi || Chhattisgarhi Adjective || छत्तीसगढ़ी विशेषण के 2 उदाहरण || छत्तीसगढ़ी भाषा के विशेषण pdf ||


 

Leave a Reply