छत्तीसगढ़ी सर्वनाम || Chhattisgarhi Sarvanam

छत्तीसगढ़ी सर्वनाम
संज्ञा के बदले में आने वाले शब्दों को सर्वनाम कहते हैं । सर्वनाम का शाब्दिक अर्थ है सबका नाम। अर्थात संज्ञा का बार-बार प्रयोग ना करते हुए उसके स्थान पर जिस शब्द का प्रयोग किया जाता है उसे सर्वनाम कहते हैं । प्रयोग के आधार पर सर्वनाम के भेद है जो हिंदी की तरह ही छत्तीसगढ़ी सर्वनाम में भी होते हैं।
जैसे – मैं , ते , मैं , मोर , तोर , हमन , ओमन , मोला, तोला, हमला, हमर , तुमन , तुम्हर आदि ।

छत्तीसगढ़ी सर्वनाम सर्वनाम के प्रकार –

1 . व्यक्ति वाचक सर्वनाम
2 . निजवाचक सर्वनाम
3 . निश्चय वाचक सर्वनाम
4 . अनिश्चय वाचक सर्वनाम
5 . संबंधवाचक सर्वनाम
6 . प्रश्नवाचक सर्वनाम
7 . अनिश्चित वाचक सर्वनाम
8 . मिश्र या यौगिक सर्वनाम

1. व्यक्ति वाचक सर्वनाम / पुरुष वाचक सर्वनाम

      वक्ता ,स्रोता , और अन्य { जिसके सम्बन्ध में बात हो } का बोध करने वाला सर्वनाम पुरुष वाचक सर्वनाम या व्यक्ति वाचक सर्वनाम कहते है .
• छत्तीसगढ़ी भाषा में व्यक्ति वाचक सर्वनाम /पुरुष वाचक सर्वनाम प्रथम पुरुष , द्वितीय पुरुष एवं तृतीय पुरुष निम्नानुसार है-
. प्रथम पुरुष (उत्तम पुरुष)
          1 . एकवचन – में , मैं , मोर, मो
           ( मैं का विकारी रूप मो, हाय, जिससे मोला, मोका बनता है )
          2 . बहुवचन – हमर , हमन, हमार , हम
. द्वितीय पुरुष (मध्यम पुरुष)
           1. एकवचन – ते, तैं, तोर, तो ( तैं का विकारी रूप – तोला , तोका )
           2. बहुवचन – तुम, तुमन, तुम्ह, तूम्हारा , तुंहर , तुंहार
. तृतीय पुरुष
         1.‌ एकवचन – ओ , वो , ओहर , वोहर , ओकर , वोकर
          2. बहुवचन – ओमन , वोमन

2. निजवाचक सर्वनाम
• जिस शब्द का प्रयोग अपने या स्वयं के लिए नाम के बदले किया जाता है उसे निजवाचक या परावर्तित सर्वनाम करती है। हिंदी में निज वाचक सर्वनाम के रूप में आप , अपने आप , स्वयं , खुद , स्वतः जैसे सब्दो का प्रयोग किया जाता है जैसे – अपन , सियम, स्वांगे ,आपुस ।
           वाक्य – अपन गोठ ला गोठिया डारेन ।
                      आपुस में बना लेबो ।।
           वाक्य –  नोनी ला लेहे में स्वांगे आय हाँ ।
                     ( लड़की को ले जाने मै स्वयं आया हु )
          वाक्य –  मै अपन काम ला सियम करथव ..
                   ( मै अपना काम स्वयं करता हु )

3. निश्चयवाचक सर्वनाम
किसी निश्चित व्यक्ति , वस्तु , घटना या कर्म के लिए प्रयुक्त होने वाले सर्वनाम को निश्चय वाचक सर्वनाम कहते है ।

• निकटवर्ती निश्चयात्मक एकवचन – ए , ये, ए-हर, ये-हर , ई, है ।
                   ए मन मानत हें।
                   ए हर मोर मोबाइल ए ।
                  बदमासी करैया एहि हर आय ।

• निकटवर्ती निश्चयात्मक बहुवचन – इन, इन्ह ।
                इन खर ले तो सब परेशान हैं।

• दूरवर्ती निश्चयात्मक एकवचन – ओ, ऊ, ओह, वो, वोह, वा, सो , ते ।
              ओहर मान जाही ।
              ओही मन तो सब करैया आय ।

• दूरवर्ती निश्चयात्मक बहुवचन – उन , उमन, उन-मन, ओ-मन, ।
             उमन आवत होही ।
             जा ओ-मन ल बला तो ।

4. संबंधवाचक सर्वनाम
  जिन सर्वनाम शब्दों से दो भिन्न बातों का संबंध प्रगट होता है अथवा जो प्रधान वाक्य से आश्रित वाक्य का संबंध जोड़ता है उन्हें संबंधवाचक सर्वनाम कहते हैं ।

• यह सर्वनाम संबंध को दर्शाने वाले होती हैं।
        हिंदी में – जो- सो , जिसे-वही , जिसको-उसको, जैसे-वैसे
            जैसे – जे, जेहर, जोन , जौंन, जउन, जेकर, जिन, जउन, ते, ते-हर, तोर, तउन, तिंह, तिन्ह।
                      जउन जैसन करही तीन तईसन पाही ।

5. प्रश्नवाचक सर्वनाम
जिन सर्वनाम उसे किसी व्यक्ति, वस्तु या घटना के बारे में प्रश्न का बोध हो उन्हें प्रश्नवाचक सर्वनाम कहते हैं . हिंदी के प्रश्नवाचक सर्वनाम – कौन , किसे,  इसने,  क्या,  कब , आदि है ।

       1. एकवचन – को, कोन, कौन, कउन, का , काबर, किआ, कोनहर
       2. बहुवचन – कोन-कोन, काकर-काकर, कोनमन
       3. पुनरावृत्ति (बहुवचन) – कउन-कउन हर , कोन-कोनला

    उदा – 1 . फइरका ला कौन मन है मै नई जानव ( दरवाजे को कौन तोडा मै नहीं जानता ? )
             2 . कोन पढ़े हाबे ? ( कौन पढ़ा है ?)
             3 . कते घर तुम्हर आये ? ( कौन सा घर तुम्हारा है ?)

6 . अनिश्चित वाचक सर्वनाम –
• जब शब्द से किसी निश्चित वस्तु या व्यक्ति का बोध ना हो तो उसे अनिश्चित वाचक सर्वनाम कहते हैं।
 जैसे – कोनो, कउनो, कोई, कछु , कुछु ।
              उदहारण –  कोनो आय रहीसे ?
                              कुछु खनहु मै हा ? 

छत्तीसगढ़ी सर्वनाम
छत्तीसगढ़ी सर्वनाम

7. मिश्र या यौगिक सर्वनाम
        जैसे – मैं अपन , हम जम्मो, तुम सब्बो , जम्मो कांही ।
         तुम सब्बो मोर संग में रइहा ।

8. अन्य सर्वनाम –
        अन्य – सब्बो , सब , कतको, एक, दुसर , आन, अउ, दुनो, जम्मो, जमो ।

Chhattisgarhi Sarvanam Grammar In Hindi || छत्तीसगढ़ी सर्वनाम || Chhattisgarhi Sarvanam || Chhattisgarhi Sarvanam Aur Visheshan,


छत्तीसगढ़ी व्याकरण से जुडी जानकारी 

छत्तीसगढ़ी संज्ञा || Chhattisgarhi Sangya || Chhattisgarh Noun

छत्तीसगढ़ी वर्णमाला स्वर व्यंजन | Chhattisgarhi Bhasha Swar Yyanjan

Chhattisgarhi Rajbhsha Aayog Kya Hai || छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग

Fruit Names In Chhattisgarhi || छत्तीसगढ़ी भाषा में फलो के नाम

Chhattisgarhi Me Pakshiyo Ke Naam |पक्षियों के नाम-छत्तीसगढ़ी शब्दावली

पशुओं के नाम छत्तीसगढ़ी भाषा में || Pashuo Ke Nam Chhattisgarhi Bhasha Me

Vegetable Names In Chhattisgarhi || छत्तीसगढ़ी में सब्जियों के नाम

Chhattisgarhi Me Sharir Ke Angon Ke Naam|छत्तीसगढ़ी अंगों के नाम

Chhattisgarhi Rishte Naate Ke Naam Hindi/ENGLISH

छत्तीसगढ़ के पुरस्कार के नाम | Chhattisgarh Ke Puruskar Ke Nam


छत्तीसगढी कहानी

Top – 2 छत्तीसगढ़ी कहानी

 

Leave a Reply