Ajit Jogi Daughter Death Mystery

जिनके घर में बेटी पैदा होता है वो महान होता है । एक बेटा भाग्य से होता है ठीक उसी प्रकार से एक बेटी सौभाग्य से होता है । बेटी वो फूल है जो हर बाग़ में नहीं खिलता है और बेटी पाने का सौभाग्य सभी को नहीं मिलता है ।

ठीक उसी प्रकार से अजित जोगी से लिए भी उनकी बेटी बगिया के सामान थे , जंहा घर में खुशहाली ले कर के आती । वे अपने बेटी को बहुत ही ज्यादा लड़ प्यार से साथ में रखते थे और बहुत ही ज्यादा प्यार करती थी जैसा की हर पिता को होता है हर बेटियों के ले वैसे ही था अजित जोगी का प्यार अपने बेटी अनुषा के लिए ।

Ajit Jogi Daughter Death Mystery

यह उस दिनों की बात है जब अजित जोगी को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री के लिए चुना जाना था । तब उस समय उसका दौरा एक दफ्तर से दूसरे दफ्तर और अन्य जगहों में उन्हें जाना पड़ता था । तब Ajit Jogi Daughter Death Mystery के रूप में यह विचित्र घटना घट गया ।

दिग विजय को ही कहा गया कि आप आधिकारिक तौर पर अजीत जोगी का नाम आगे बढ़ाएं और यह सुनिश्चित करें कि जो भी कांग्रेस विधायक दल का नेता बन जाए . जब आदेश सोनिया की तरफ से आया दिग विजय इंकार नहीं कर पाए .

दिग्विजय ने दुश्मनी को मुल्तवी किया और 31 अक्टूबर 2000 को अजीत जोगी छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री बन गए . हालांकि सपना पूरा होने पर भी जोगी को दुनिया अधूरी लग रही थी ।  उन्हें अपनी बेटी याद आने लगी जो कुछ दिन पहले ही दुनिया छोड़ गई नाम का अनुषा बेटी से बहुत प्यार करते थे इसलिए उनके नाम से एक बड़ा सा बांग्ला भी बनवाया गया है अनुषा विला .

जोगी तब इंदौर में रहते थे बताते हैं कि अनुषा किसी से प्रेम करती थी शादी करना चाहती थी लेकिन पिता की मर्जी नहीं थी . बिटिया नहीं मानी 12 मई 2000 बताते हैं उस दिन सोनिया गांधी इंदौर आई थी पिता सोनिया गांधी की अगवानी में लगे थे घर में बेटी ने आत्महत्या कर ली .

इंदौर के कब्रिस्तान में बेटी को दफन कर दिया गया . अजीत दफ़नाय जा चुके शव को अपने गांव गोरिला गांव जाना चाहते थे लेकिन उन्हें परमिसन नहीं मिली . अजित मुख्यमंत्री बने तब अनुमति मिलगई राजकीय हेलीकॉप्टर से बिलासपुर ले jअजीत जोगी दिल्ली में थे कलेक्टर से मिलने रायपुर पहुंच गए और बेटी का शव दफना दिया गया .

दफन सालों में अंतिम संस्कार की एक प्रथा । अजित जोगी के पिता इसे धर्म अपना लिया था और ये  ईसाई धर्म वाली बात यहां तक पहुंचती है कि जब और राज्यसभा में थे तब जानबूझकर हर रविवार उस विरजे में जाते जहां सोनिया गांधी जाती थी इस तरह वह सोनिया गांधी के करीबी बनना चाहते थे . ऐसा उनके आलोचक कहते है ।


Ajit Jogi IAS rank | Ajit Jogi Bio

samajik kahani

Kalpana Saroj story || success journey

नकली पैरो से इतिहास रचने वाले – चित्रसेन साहू Success Story

24 बार फेल Officer Success Story -Prem कुमवत

The Youth of Icon India – Priyanka Bissa

यु ही नहीं मिलती गोल्ड मैडल – Indias Best Hima Das

FAQ

1 . ajit jogi daughter name
उत्तर – ajit jogi daughter name is anusha

2 . ajit jogi death reason
उत्तर – छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी (Ajit Jogi) का निधन हो गया है. 74 साल की उम्र में उन्होंने अंतिम सांस ली. अजीत जोगी को कार्डियक अरेस्ट (Cardiac Arrest) के बाद अस्तपाल में भर्ती कराया गया था. बीते 9 मई से वे अस्पताल में भर्ती थे. अजीत जोगी को वेंटिलेटर (Ventilator) की मदद से सांस दी जा रही थी. तब से उनकी मस्तिष्क की गतिविधियां बहुत कम थी. काफी दिनों से अजीत जोगी की हालत नाजुक बनी हुई थी. तकरीबन 20 दिनों से जोगी कोमा (Coma) में ही थे. बुधवार देर रात उनका फिर कार्डियक अरेस्ट हुआ था. फिर शुक्रवार को दोबारा उनकी हालत बिगड़ी थी | 29 May 2020 स्वर्गवास हो gaye . 

Leave a Reply