You are currently viewing Ben Stokes biography in hindi – England legend
Ben Stokes biography in hind

Ben Stokes biography in hindi – England legend

  • Post author:
  • Post category:Success Story
  • Post comments:0 Comments
  • Reading time:9 mins read
  • Post last modified:November 26, 2022

हर वर्ल्ड कप फाइनल में एक कहानी जरूर होती है ।  कभी सब कुछ हारने और कभी सब कुछ हार कर सब कुछ  को जीतने की . अभी तक क्रिकेट इतिहास में पहली बार कोई टीम है जिसके पास वर्ल्ड कप ओडीआई और T20 दोनों किताब एक साथ है ।  इंग्लैंड को इन दोनों को कप्तानी में बेन स्टोक्स ( Ben Stokes biography in hindi) का विशेष योगदान रहा जिसके कारन Ben Stokes  को इंग्लिश खिलड़ियों में सबसे अच्छा खिलाडी माना जा रहा है ।

Ben Stokes Biography In Hindi

बेन स्टोक का पूरा नाम जिसे आपको पता नहीं होगा उसका पूरा नाम बेंजामिन एंड्रयू स्टोक्स है ।  जिसे लोग प्यार के साथ में बेन स्टोक्स कहते है । इनके पिता जी रग्बी के बेहतरीन खिलाडी थे । जिन्होंने रग्बी खेलते हुए अपने अपने हाथ के दोनों उंगलियों के गवाया था ।

यदि आप देखते होंगे तो जब भी बेन स्टोक्स अच्छी पारी खेलते है तब अपने दोनों उंगलियों को छुपा कर के अपने पिता जी को याद करते है ।

ben stokes का जन्म 4 जून 1991 क्रिसचर्च ,कैंटरबरी ,न्यूजीलैंड में हुआ था । बेन स्टोक्स ने अंतरराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट कैरियर की शुरुआत ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ 05 दिसम्बर 2013 को की अपनी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अपना कदम रखा था जबकि वनडे कैरियर की शुरुआत उन्होंने 25अगस्त 2011 को आयरलैंड के खिलाफ की थी । 

लेकिन आज से 6 साल पहले Ben Stokes वो बॉलर थे 19 रन नहीं बचा पाया था ।  वह बॉलर जिसने लगातार चार छक्के खाकर वर्ल्ड कप हारा ,. वह समय के फोटोस हम सपने देखे थे  .

2016 की हार के बारे में Ben Stokes कहते हैं उस हार के बाद में 4 दिनों के बाद में खड़ा नहीं हो पा रहा था . मुझे समझ नहीं आ रहा था कि यह कैसे हो गया  ? Ben Stokes है कि कई दिनों तक दिमाग में चलता रहा कि मेरे कारण टीम वर्ल्ड कप हार गई मैं , कई बार उन चार बालों के बारे में सोचता .

वह कहते हैं कि उस हार ने मुझे हताश किया लेकिन उस हार ने मुझे क्रिकेट से दूर नहीं किया बल्कि में बेहतर इंसान और बेहतर क्लियर बनने की सोचता रहा।

6 साल बाद बेन स्टोक्स पर फाइनल की प्रेशर में खड़ी थी वर्ल्ड कप 2022 में अभी तक बेन स्टोक्स ने कुल 58 रन बनाए थे लेकिन इस बार उन्होंने कठिन पिच और कम स्कोर में 52 रन बनाए और टीम को मैच जिताया ।

पीछे 6 सालो में Ben Stokes ने कई सिमित और टेस्ट ओवरों में महत्वपूर्ण पारियां खेली । साथ में निजी जीवन में कई उतार-चढ़ाव देखे जिन्होंने बेन स्टोक्स को मेंटली स्ट्रांग बनाया ।

Ben Stokes पर मैच पर पाबंदिया 

2016 के बाद से ही Ben Stokes इंग्लिश मैन के लिए बुरी प्लेयर तो बनी गए थे।  2017 ग्रामीण मीडिया के लिए बैड बॉय बन गए ।  26 सितंबर की सुबह ब्रिस्टल के क्लब के बाहर एक आदमी को चोट पहुंचाने और बेहोश करने की जुर्म में बेन स्टोक्स को गिरफ्तार कर लिया गया . जुर्म साबित नहीं हुआ था लेकिन अगले ही दिन बेन स्टोक्स को टीम से हटा दिया गया ।

इंग्लिश क्रिकेट बोर्ड में भी 8 मैच का बैन लगा दिया फिर मीडिया ने जरूरत से ज्यादा काम करके बेन स्टोक्स को अपराधी करार दे दिया ।  असल में Ben Stokes गे कपल को असामाजिक तत्वों से बचा रहे थे .

वंहा मौजूद लोगों का बयान था कि बेन स्टोक्स असली हीरो है . अगर मैं ना होते तो 2 लोगों के साथ बड़ा हादसा हो सकता था . करीब 1 साल बाद अगस्त 2018 में कोर्ट बेन स्टोक्स (Ben Stokes) को निर्दोष करार दिया लेकिन 10 महीने तक Ben Stokes को टीम में जगह नहीं मिली और वाइस कैप्टन सी भी छीन ली गई  . एक फास्ट बॉलर ऑलराउंडर का इंटरनेशनल करियर 10 से 12 साल का होता है .

उसमें 1 जवानों की बेस्ट एथलीट का खेल 1 साल तक खेल से दूर रहना मतलब अपने करियर का 10 परसेंट खो देना है आप सोचो कि किसी की जान बचाने के बाद आपको सजा मिले साथ . परिवार को मीडिया की अटकले भी सहने पढ़े तो बताओ आपकी क्या मानसिक स्थिति होगी ?

Ben स्टोक्स मैच में वापसी 

2018 में टीम मे वापसी करने बाद बेन स्टोक्स ने न्यूजीलैंड टूर में बेहतरीन खेल दिखाया ..

उस समय बंद उसके अंदर अपने आप को साबित करने की इतनी तीव्र जिजीविषा थी कि इंग्लैंड के कोच को बेन स्टोक्स को बिठाकर समझाना पड़ा कि भाई अब ट्रेनिंग की इंटेंसिटी कम कर दो वरना चोटिल हो जाओगे।

सुन्दर वाक्य होगा उनके मैसेज से मेल खाता होगा जो उन्होंने दाय कंधे में खुदवाया है । जिसमे लिखा है हिंदी अनुवाद है आप सबसे अच्छा तभी हो सकते हैं जब आप दिल से चैंपियन बनने की इच्छा रखते हैं और आपके लिए असफलता का डर कोई अस्तित्व नहीं रखता बेन स्टोक ने इस मंत्र के साथ बेहतरीन खेलना शुरू किया ।

2019 वर्ल्ड कप में बेहतरीन खेल दिखाया . उन्होंने फाइनल में नाबाद 84 रन बनाए और सुपर ओवर में महत्वपूर्ण 8 रन जोड़े वर्ल्ड कप जीतने के बाद स्टोक्स एक इंटरव्यू में 54 प्लेयर से कहते हैं level-headed यानी बुद्धि स्थिर होना जरूरी है जब समय अच्छा चले तो हवा में मत उड़ो और समय साथ जब समय साथ ना दे तो निराशा में मत डुबो।  जीवन के संघर्ष में स्थिर रहना तो आपको सीखना ही होगा.

फिर 2020 में Ben Stokes के जीवन में एक गंभीर और गंभीर मोड़ आया उनके पिता का निधन हो गया आप जो कुछ समय से ब्रेन कैंसर से पीड़ित थे ।  अक्सर पिता पुत्र का जैसा संबंध होता है वैसा स्टोक्स और उनके पिता का भी था उसके प्रेरणा स्त्रोत थी जिन्होंने उन्हें बचपन के समय में उन्हें क्रिकेट के मैदान में खेलने के लिए ले गए थे ।

पिता का देहांत हुआ तो बेन स्टोक्स डिप्रेशन में चले गए . Ben Stokes  कहते हैं कि उस समय में क्रोधित भी था ,  शायद क्रिकेट पर या क्रिकेट बुक पर क्योंकि टूर्स और मैं जिसके चलते आखिरी दिनों में अपने पिता के साथ ज्यादा वक्त नहीं बता पाया . Ben Stokes के पिता रग्बी प्लेयर थे 1980 के एक मैच में उनकी दो उंगलियां टूट गई इसके बावजूद बिता उंगलियां पट्टी बांधी खेलते रहे  . पिता की यही तीव्रता बेटे में भी आई बेन स्टोक्स ने 6 महीने बाद वापसी की और बेहतरीन खेल दिखाया ।

आज भी Ben Stokes दो उंगलियां उठाकर पिता को सम्मान देते हैं . दिग्गज खिलाड़ी 2016 , 2019 और 2022 की टीम वर्ल्ड कप फाइनल खेलना और तीनों फाइनल में आखिरी ओवर तक खेल का मुख्य हिस्सा होना ।  यह साबित करता है कि बेन स्टोक्स बड़े मैचों के दिक्कत खिलाड़ी है .  प्रेसर में खेलना और जिम्मेदारी लेना जानते हैं इसलिए हम एक world-class ऑलराउंडर से सीख सकते हैं कि प्रेशर कैसे हैंडल करें ?

बेन स्टोक्स इस बारे में बड़ी जरूरी बात कहते हैं-  कि मैच पहले खुद पर डाउट करना फिर प्रेशर में आना और परेशान होना pointless है . इसका मतलब आप के पास कुछ मेंटल टिप्स होनी चाहिए जिससे आप खुद पर डाउट ना करें  . ऐसी मेंटल स्टेप्स जो आप बार-बार अभ्यास कर सकें  .

Ben Stokes की सुझाव भरी बाते 

Ben Stokes रूटीन फॉलो करते हैं वे कहते हैं कि जब आप रूटीन फॉलो करते हो तो कभी फील्डिंग भी मैं आपको डिस्टर्ब करती है तो कभी प्रेशर का दबाव होता है ।   कह देगी इसलिए बैटिंग करते समय मैं कल्पना करता हूं कि मेरे चारों तरफ एक बबल है डिस्ट्रिक्ट करने वाली कोई बात इस बबल के अंदर नहीं आ सकती इस बबल में वही गूंजता है मुझे वही सुनाई देता है जो मुझे उस समय करना है ।

अगली बहुत काम की चीज जो बेन स्टोक्स कहते हैं आखरी तक टिके रहो  . जब मै आखरी ओवर तक टिका रहता हूं तब टीम के जीतने के चांसेस बढ़ जाते हैं क्योंकि मैं आखिरी बॉल तक रन बनाना जानता हूं ।  दोस्तों यही एटीट्यूड हमारा भी होना चाहिए हमें आखिर तक टिके रहना है किसी ना किसी तरह ।

बेन स्टोक्स वर्ल्ड कप 2022 का एक और सीक्रेट बताते हैं कि अच्छी टीम हार का बोझ लेकर नहीं चलती ।  गलतियों से सीखती है और आगे बढ़ती है . Ben Stokes (( ben stokes biography in hindi)) कहते हैं कि आयरलैंड से मैच हारने के बाद और एक मैच बारिश खुलने के बाद हम को क्वालीफाई करने के लिए बचे हुए दो मैच जीतने थे . वर्ल्ड कप जैसे टूर्नामेंट में हम हार का भाग लेकर नहीं खेल सकते थे .

हम सब ने बैठकर बातें की और हर एक प्लेयर ने बताया कि उसको कैसा लग रहा है ,  कुछ नर्वस थे कुछ लोग इमोशनल भी थे ,  ऐसा लग रहा था कि बारिश के कारण हमारी मेहनत धूल न जाए हम लोग इकट्ठे बैठकर बात इससे हम सबका मन हल्का हुआ हमने अपने खेल की जिम्मेदारी ली और एकजुट हो गए ।

इस हार का बोझ हल्का करने से हमको वर्ल्ड कप जीतने में बहुत मदद मिली . दोस्तों हम लोग भी कहीं ना कहीं हार का बहुत मन में लिए रहते ।  इस को बांटने से अपनी जिम्मेदारी स्वीकार करने से हम एक नया कॉन्फिडेंस एक नई शक्ति महसूस होती है ।  कैसे अपनी सोच में छोटे-छोटे बदलाव लाने से पहले एटीट्यूड बदलता है फिर जिंदगी बदल जाती है .( ben stokes biography in hindi)


ज़िंदगी बनानी है तो ये करना होगा – Arun bajaj

नकली पैरो से इतिहास रचने वाले – चित्रसेन साहू Success Story

24 बार फेल Officer Success Story -Prem Kumvat

Kalpana Saroj story || success journey

Being an Entrepreneur in India |

There is definitely a story in every World Cup final. Sometimes losing everything and sometimes winning everything by losing everything. So far, for the first time in cricket history, there is a team that has both the World Cup ODI and T20I books together. Ben Stokes (Ben Stokes biography in hindi) had a special contribution in the captaincy of these two to England, due to which Ben Stokes is considered to be the best player among English players.

Ben Stokes Biography

The full name of Ben Stokes that you may not know is Benjamin Andrew Stokes. Whom people fondly call Ben Stokes. His father was a great player of rugby. Who had made both the fingers of his hand sing while playing rugby.

If you see, whenever Ben Stokes plays a good innings, he hides both his fingers and remembers his father.

Ben Stokes was born on 4 June 1991 in Christchurch, Canterbury, New Zealand. Ben Stokes made his international Test debut on 05 December 2013 against the Australian team, while he made his ODI debut on 25 August 2011 against Ireland.

But 6 years ago, Ben Stokes was that bowler who could not save 19 runs. The bowler who lost the World Cup by hitting four consecutive sixes. Photos of those times we dreamed of.

Regarding the defeat of 2016, Ben Stokes says that after that defeat, he could not stand after 4 days. I don’t understand how this happened? Ben Stokes is that for many days it kept running in my mind that because of me the team lost the World Cup, many times I used to think about those four hairs.

He says that defeat demoralized me but that defeat did not make me away from cricket but I kept thinking of becoming a better person and a better cricketer.

After 6 years, Ben Stokes was under pressure in the final, in the World Cup 2022, Ben Stokes had scored a total of 58 runs, but this time he scored 52 runs in a difficult pitch and low score and won the match for the team.

In the last 6 years, Ben Stokes played important innings in many limited overs and test overs. Together saw many ups and downs in personal life which made Ben Stokes mentally strong.

Ben Stokes banned for the match

Since 2016, Ben Stokes had become a bad player for the English man. 2017 turned out to be a bad boy for rural media. Ben Stokes was arrested on the morning of 26 September for causing injury and knocking a man unconscious outside a club in Bristol . The offense was not proved but the very next day Ben Stokes was dropped from the team.

The English Cricket Board also imposed a ban of 8 matches, then the media made Ben Stokes a criminal by doing more work than necessary. Actually Ben Stokes was protecting the gay couple from anti-social elements.

The statement of the people present there was that Ben Stokes is the real hero. Had I not been there, a big accident could have happened with 2 people. About 1 year later, in August 2018, the court acquitted Ben Stokes but for 10 months, Ben Stokes did not get a place in the team and Vice Captain C was also taken away. The international career of a fast bowler all-rounder is 10 to 12 years.

In that, the game of the best athlete of 1 soldiers, staying away from the game for 1 year means losing 10 percent of your career. You think that after saving someone’s life, you get punished. If the family has to bear the speculations of the media, tell me what will be your mental state?

Ben Stokes returns to the match

After returning to the team in 2018, Ben Stokes showed the best game in New Zealand tour.

At that time, he had such a strong desire to prove himself that the coach of England had to make Ben Stokes sit and explain that brother, now reduce the intensity of training or else you will get injured.

It would be a beautiful sentence, it would match his message which he has engraved on his right shoulder. In which it is written in Hindi translation that you can be the best only when you desire to be a champion from the heart and fear of failure does not exist for you. Ben Stokes started playing best with this mantra.

Showed the best game in 2019 World Cup. He scored an unbeaten 84 in the final and added a crucial 8 runs in the Super Over. After winning the World Cup, Stokes tells 54 players in an interview to be level-headed. When time is not on your side, don’t despair. You have to learn to remain stable in the struggle of life.

Then in 2020 Ben Stokes’ life took a serious and serious turn when his father passed away who had been suffering from brain cancer for some time. Stokes and his father, who often had a father-son relationship, were also his inspirations, who took him to the cricket field during his childhood.

When his father died, Ben Stokes went into depression. Ben Stokes says that he was also angry at that time, probably because of the cricket or the cricket book because of the tours and because of which I could not spend much time with my father in the last days. Ben Stokes’s father was a rugby player, he broke two fingers in a 1980 match, despite this, he continued to play with bandaged fingers. The same intensity of the father came in the son as well.

Stokes returned after 6 months and showed a great game.

Even today Ben Stokes shows respect to his father by raising two fingers. Veteran players playing the 2016, 2019 and 2022 team World Cup finals and being the main part of the game till the last over in all three finals. This proves that Ben Stokes is a problem player in big matches. Knows how to play under pressure and take responsibility, so we can learn from a world-class all-rounder how to handle pressure?

Ben Stokes says a very important thing about this – that it is pointless to doubt yourself before the match, then to come under pressure and get upset. This means that you should have some mental tips so that you do not doubt yourself. Mental steps that you can practice over and over again.

Ben Stokes’ tips and tricks

Ben Stokes biography in hind
Ben Stokes biography in hind

Ben Stokes follows routine, he says that when you follow routine, sometimes fielding also disturbs you and sometimes there is pressure. That’s why while batting I imagine that there is a bubble around me, nothing distracting can come inside this bubble, in this bubble only that echoes, I hear only what I have to do at that time.

Next very useful thing that Ben Stokes says stay till the end. When I stay till the last over then the chances of the team to win increase because I know how to score runs till the last ball. Friends, we should also have the same attitude, we have to survive till the end, one way or the other.

Ben Stokes tells another secret of World Cup 2022 that a good team does not carry the burden of defeat. Learns from mistakes and moves forward. Ben Stokes ((ben stokes biography in hindi)) says that after losing the match to Ireland and opening one match after rain, we had to win the remaining two matches to qualify. In a tournament like the World Cup, we could not play with the share of defeat.

We all sat and talked and each player told how he was feeling, some were nervous, some were emotional as well, it seemed that our hard work should not go to dust due to the rain, we all sat together and talked about it. Lightened, we took responsibility for our game and united.

Lightening the burden of this defeat helped us a lot in winning the World Cup. Friends, we also used to keep a lot of defeat in mind somewhere or the other. Accepting our responsibility by sharing this, we feel a new confidence and a new power. How Attitude changes before bringing small changes in your thinking then life changes.(ben stokes biography in hindi)

Leave a Reply