You are currently viewing Kahani Pyar Ki Chhattisgarhi Me || CG LOVE STORY
Kahani Pyar Ki Chhattisgarhi Me

Kahani Pyar Ki Chhattisgarhi Me || CG LOVE STORY

वैसे तो आप सभी को पता होगा की आज के समय में कोई भी व्यक्ति बिना प्यार महोब्बत के नहीं रह सकता है । आज के समय में कोई न कोई लड़का हो लड़की किसी न किसी के प्यार में गुम हुए जरूर रहते है । हालांकि उनके बिच में प्यार जरूर रहते है लेकिन वे कभी अपने प्यार का इजहार नहीं करते है । प्यार का ही नशा कुछ अलग होता है ,

जंहा लड़की हो या लड़का जब तक एक बार उनका चेहरा न देखा जाए तब तक मन नहीं मंटा है और उनकी आवाज को सुनने के लिए मन तरसने लगता है । तो बिना आप लोगो समय गवाए हम आपके लिए लेकर के आ गए है kahani pyar ki chhattisgarhi me . छत्तीसगढ़ी LOVE स्टोरी || CG LOVE STORY

1 . Love with Eyes (CG LOVE STORY Me)

इस लव स्टोरी की शुरुआत होती है एक दुकान से किराना का दुकान है। जहां पर एक लड़का साइकिल से रोज सुबह के समय लस्सी लेने के लिए आता था। और वह लस्सी लेकर के तुरंत ही घर चला जाता था।
यह उसका डेली का रूटीन था वह दुकान में आता और लस्सी लेकर के चला जाता है।
वह उस दुकान में लस्सी लेते हुए कम से कम 15 से 20 दिन हो गए थे ।

1 दिन की बात है जब लड़का साइकिल चलाता हुआ दुकान के पास आया और साइकिल को खड़ा करके लस्सी लेने के लिए उत्तरा और लस्सी ले रहा था।
बस उसी समय एक लड़की आती है बस उसकी उम्र भी लड़के की उम्र के समान थी।

लड़का लस्सी को लेकर ढक्कन खोल ता है और हर दिन के भांति वह लस्सी को पी रहा था तभी अचानक से उसे उस लड़की पर नजर पड़ती है हालांकि यह पहला दिन था। तो उसने गौर नहीं किया और लड़की दूध का पैकेट लेकर वहां से चली गई।
दूसरे दिन भी जब लड़का साइकिल से उतरा और लस्सी के लिए दुकान के काउंटर में खड़ा था तभी वह लड़की आई और दूध पैकेट मांगी।
लड़की और लड़का दोनों काउंटर में ही खड़े थे। पहली बार वह लड़की को देखा और लड़की ने लड़के को देखा लेकिन यह पहली बार था जब उन्होंने दोनों को एक दूसरे की ओर देखा।

दोनों एक दूसरे के चेहरे को देखें लेकिन इतना गौर नहीं किया पहले दिन भी। लड़की दूध लेकर चली गई।

लड़का भी लस्सी के बोतल को खोल करके पीने लगा और पीने के बाद में वहां से चला गया।

तीसरा दिन जब लड़का साइकिल से फिर आया तो उसी समय वह लड़की भी आई लड़का काउंटर में खड़ा था लड़की भी आकर के काउंटर में खड़े हो गई।

अब लड़का लड़की को पहचान गई थी तो थोड़ा सा लड़का लड़की को देखा और लड़की लड़का को दिखा तो लड़की ने लड़का को देख कर मुस्कुराना।


मदद की कहानी | दूसरों की मदद करने पर कहानी

किसान की समस्या || Kahani Pyar Ki Chhattisgarhi Me


जैसे ही लड़की ने लड़का को देखा और मुस्कुराया तो लड़का अंदर से बहुत खुश हो गया और बहुत खुशी-खुशी लस्सी को पीकर के करके वह चला गया ।

अब तो लड़का को लड़की की मुस्कान रात में याद आने लगी उसके मन में उत्सुकता जगने लगी ।
रात में इतना बेचैन हो गया की लड़की को देखने के लिए उसका मन विचलित होने लगा।

वह लड़का लड़की को देखने के लिए रात भर करवटें बदलते रहा। वह सोच रहा था कि कब सुबेरे हो और कब उस लड़के से मुलाकात।

जैसे ही सुबेरे हुआ लड़के तुरंत साइकिल पकड़ के उस दुकान के काउंटर में जाकर के खड़ा हो गया। लड़का उस लड़की को देखने लगा।

लड़का लड़की को देखने के लिए बहुत ही बेचैन थी और कुछ देर बाद में वह लड़की फिर आई और लड़के को देख कर मुस्कुरा कर के चली गई।

अब लड़का दिल्ली उस दुकान में आता है और काउंटर में खड़े हो जाता लड़की भी आती काउंटर में खड़े हो जाती दोनों एक दूसरे को देखते हैं मुस्कुराते हैं लड़की दूध का पैकेट लेकर चला जाती है और लड़का उसे देखते ही रह जाता ।

दोनों के बीच बात तो नहीं हो रहा था लेकिन उनके आंखें साफ बता रही थी वे एक दूसरे को आप चाहने लगे हैं उनकी आंखें बात कर रहे थे कि वे अब एक दूसरे को देखे बिना नहीं रह सकते। दोनों के मन में आंखों ही आंखों में प्यार हो गया था भले ही और दोनों एक दूसरे का नाम तो नहीं जानते थे लेकिन वह उनकी आंखें उनके प्यार उनके होठों के लफ्जों आसानी से पहचान पाते थे।

कुछ दिन तो ऐसा ही चलता रहा लड़की आती लड़का आता दोनों एक दूसरे को देखते और प्यार भरी मुस्कान देकर के वहां से चले जाते हैं।

एक दिन लड़का काउंटर में खड़ा था और लड़की उसी समय दूध का पैकेट लेने के लिए आए और लड़का को लगा कि
आंखों ही आंखों से उनकी प्यार बढ़ गई और लड़का को लगा आज तो वह उसे लस्सी जरूर पिलाएंगे।

कुछ देर बाद में लड़की आई लड़का काउंटर में पहले से ही खड़ा था लड़के ने लस्सी के दो बोतल मांगे और लस्सी के ढक्कन को खोलें ।

लड़की काउंटर में खड़ी थी लड़का लड़की की और देख रहा था। लड़के भी लड़का की ओर देख रहा था।

दोनों की आंखें एक दूसरे से बात कर रहे थे। लड़का लस्सी एक बोतल को काउंटर से लड़की की तरफ देता है।

लड़की लस्सी के बोतल को अपने हाथों से पकड़ लेती है।

कहानी में तो ट्विस्ट की शुरुआत अभी होती है। इसके बाद से सब कुछ बदल जाता है। ना लड़की दूध लेने के लिए आती है और ना मिलने बहाने से।

दोनों लस्सी ke बोतल को मुख के ऊपर रखते हैं और उनकी जो निगाहें हैं आंखों से आंखें मिल रहे थे। आंखें ही आंखों से बातें कर रही थी जैसे कि कोई गहरा संबंध हो। उनके आंखें ही उनके प्यार का इजहार करती थी।

इस बीच में सामने वाले घर की खिड़की खुलती हैं उसमें एक महिला निकलती है ।

महिला इन दोनों के प्यार को बड़े देख रही थी। उनकी आंखों से आंखों मिला करके देख और लस्सी को एक साथ पीते हुए उन्हें देख लिया था।


1+ छत्तीसगढ़ी लोक कथा || chhattisgarhi lok katha 

Top 5+छत्तीसगढ़ी कहानी | cg kahani | cg story


जैसे ही लड़की लस्सी को पीते हुए दुकान के सामने मुख करती है वैसे ही उसे उसे घर ke खिड़की खुले हुए नजर आते हैं।
उस खिड़की में उसे एक महिला नजर आती हैं। जिसका चेहरा गुस्से से आगबबूला हो गया था वह गुस्से में थी।

जैसे ही वह महिला को देखती है वैसे ही वह तुरंत फटाफट लस्सी को छोड़कर, भागती हुई आ जाती है।

दोस्तों वह महिला कोई और नहीं वह उसकी मां है। जो उसकी इस दूध की कहानी को अच्छी तरह से समझ गई थी।

उसके बाद के दिन लड़का फिर लस्सी लेने के लिए है । लड़का लड़की को इधर उधर देखता रहा काफी देर हो गया अभी तक लड़की नहीं है। लड़का लड़की के चेहरे देखने के लिए बहुत ही ज्यादा बेताब था।

लड़का लड़की को देखते देखते कुछ समय बीत गया उसके बाद एक महिला आते हैं । जो गुस्से से लाल हो गई थी, आग बबूला हो गए उसके चेहरे पर अभी भी गुस्सा नजर आ रहा था।

जैसे ही महिला काउंटर में पहुंची और दूध का पैकेट मांगे तो पहले तो लड़के कुछ समझ में नहीं आया कि कोई नया होगा जो दूध लेने के लिए आई होगी।

लेकिन लड़का ने उसके चेहरे को ध्यान से देखा तो उसके चेहरे पर गुस्सा साफ नजर आ रहा था।
तो उसने लड़के को समझ में आ गया कि अब तो उसका पता साफ है।
लड़का महिला की चेहरा को देखकर समझ गया कि यह उसकी मां ही है। लड़का आव देखा ना ताव तुरंत वहां से साइकिल पकड़ के भाग गया।

इसके बाद से वह लड़का कभार ही उस दुकान में जाता था।
लड़का को डर था कि कहीं उसकी पिटाई ना कर दे। क्योंकि लड़की बड़े घर की थी इसे कारण से लड़का डरता था और वह दुकान भी नहीं जा पाता था।

कुछ दिन बीतने के बाद में लड़का को लगने लगा कि अब वह उस लड़की से नहीं मिल पाएगी। उसे लगने लगा था कि उसका प्यार उसे नहीं मिलने वाला है। लड़का लड़की को और उसे ढूंढने की कोशिश नहीं करते हैं क्योंकि लड़की बड़े घर की थी और उसे पीटने कूटने का भी डर था।

लड़का एक दिन अपने दोस्त के साथ साइकिल में जा रहा था । अचानक से उसकी साइकिल का चैन उतर जाता है।

उसका दोस्त साइकिल को पकड़ा रहता है और लड़का साइकिल के चैन को चढ़ाता रहता है। वैसे ही एक स्कूटी से लड़की पीछे से मुस्कुराते हुए गई।

लड़का चैन को चढ़ाते हुए उसकी मुस्कान को देख लिया। लड़के को लगने लगा कि अब तो पक्का है उसका प्यार (छत्तीसगढ़ी LOVE स्टोरी) उसे जरूर मिलेगा।

लड़की जब स्कूल से आ रही थी तब लड़का वही उसका इंतजार कर रहा था। इस समय लड़की पीछे बैठे हुए थे उसकी मां स्कूटी को चला रही थी।

जैसे ही लड़का उसकी मां को देखता है डर के मारे लड़का पेड़ के पीछे जाकर के छुप जाता है।

स्कूटी जब पेड़ से निकल जाती है तब लड़का उसे देखती है।
लड़की फिर लड़का को पीछे मुड़कर देखती है कातिल आंखों से लड़का को वार करती है।

इस प्रकार से दोनों की जो प्रेम कहानी है वह आंखों ही आंखों में से शुरुआत करती हैं।

2 . 54 दिन की लव स्टोरी (CG LOVE STORYMe)

CG LOVE STORY
CG LOVE STORY

लव स्टोरी की शुरुआत की है स्कूल से। जहां एक लड़का लड़की कुछ प्यार की शुरुआत होती है।

लव स्टोरी की शुरुआत यू होती है। जैसे कि हर दिन की बात हैं और हर साल के भांति सभी बच्चे स्कूल जाते हुए थे यह लड़का भी स्कूल जाता है। शुरुआत प्रेम की शुरू से नहीं होती बल्कि अंत समय में होती है।

जैसे कि आप सभी को पता है की प्यार (CG LOVE STORY) की शुरुआत होती है वह शुरुआत शुरू से होते कहीं भी लेकिन यहां जस्ट उसका अपोजिट है उल्टा है।

यहां लड़का क्लास में आता है बैठता है पढ़ाई करता है और चला जाता है शुरुआत में उसे किसी से आकर्षक नहीं था। लेकिन कुछ महीनों बाद उसे एक लड़की पर आकर्षण हो जाते हैं और आकर्षित होकर के प्यार करने लगता है।

वह लड़की शुरुआत में सीधी साधी दिखते थे। लेकिन जब उसके आंखों का प्रशिक्षण कराया गया और उसके आंख में कुछ दृष्टिक प्रॉब्लम हुआ उसे दूर की वस्तु साफ तरीके से नहीं दिखाई देता था।
वह लड़की एक ब्लैक बोर्ड में लिखें शब्दों को पढ़ने के लिए कहती तो वह नहीं पढ़ पाती थी।

बाद में उसी लड़की ने एक दिन रात में चश्मा लगा कर आई तो उस दिन उस लड़के ने उसकी चेहरे पर मोहित हो गया।

इसके पहले तक लड़का लड़की को देखा करता था लेकिन कभी भी उसे प्यार का इजहार नहीं किया था। लेकिन लड़की ke चेहरे में गॉगल बहुत ही सुंदर लगते थे। जिसके कारण से उसके मन में प्यार की ओर अधिक होने लगा।


TOP 3 RJ Kartik Ki Kahaniyan कर दिखाओ कुछ ऐसा

2022 की Top 5 बढ़िया अच्छी कहानी || सुंदर-सुंदर कहानियां


1 दिन की बात है जब छुट्टी का समय हो रहा है तो उस समय उस क्लास में कोई नहीं सभी बाहर चले गए थे। इसके अलावा उसके एक फ्रेंड की और लड़का बस था।

लड़के ने लड़की को अकेले देखा कर प्रपोज कर दिया।

हालांकि उस समय लड़के के पास ना तो कोई गुलाब का फूल था, ना ही उनके पास कोई अंगूठी था, ना ही उनके पास कोई ऐसी चीज था जिससे वह उसे प्रपोज कर सके।

वह लड़का लड़की को प्रपोज करता है उस समय लड़का का हालात बहुत ही ज्यादा खराब हो गया। क्योंकि उसे डरते हैं कि कोई आ ना जाए और लड़का यह नहीं चाहता था उसके प्यार को जान जाए।
लड़की उसकी तरफ देखते ही रह गई कुछ नहीं कहीं उसकी फ्रेंड भी लड़के को देखते ही रह गई वह भी कुछ नहीं करें और वह भी डर के मारे वहां से तुरंत अपना बैग लेकर भाग गई।

दूसरे दिन जब लड़की आए लेकिन उस के दूसरे दिन लड़का स्कूल नहीं आया । लड़का इतना डरपोक था कि उसे डर था कि वह किसी को जाकर के ना बता दे इसलिए वह उस दिन स्कूल ही नहीं आया।

लेकिन लड़की की नजर लड़के को ढूंढ रही थी। वह मन ही मन उसे ढूंढने की कोशिश कर रहा था लेकिन वह भी डरे हुए यदि वह किसी को पूछ ले कि वह क्यों नहीं है या कहां है? तो उनके ऊपर शक करने लग जाता। तो वह पूछ भी नहीं पा रही थी ।

तीसरे दिन जब लड़का क्लास गया तो उस दिन छुट्टी के समय लड़का देर निकला। और लड़की भी उस दिन देर से गई।

लड़की के साथ में उसकी फ्रेंड थी तो लड़की ने लड़के की ओर देखकर मुस्कुरा दिया।

लड़का डरा हुआ था कि कहीं वह लड़की उसे मार तो ना दे , गाली ना दे दे। लेकिन उसका सोच जस्ट ऑपोजिट हुआ। जैसा वह सोच रहा था वैसा नहीं हूं।

उस समय तो लड़की भी तरह होती तो उसने उसकी तरफ देखकर तो मुस्कुराया लेकिन उसकी भी हिम्मत नहीं हो रही थी कि वह जाकर के हां कह दे ।

तो उस लड़की ने अपने फ्रैंड को भेजकर उसे हां कहने के लिए कहती है हालाकि की दोनों सुन रहे थे बात को फिर भी एक दूसरे को नहीं बोल पा रहे थे । इस प्रकार से प्यार (CG LOVE STORY) की शुरुआत होती है  . 

अब धीरे धीरे आँखों से बात होने लगी . जब भी स्कूल आते तो एक दो मुलाकात हो जाते थे . शुबह के समय और साम के समय लेकिन उन दोनों के बीच में डर था किसी और को पता न चले .

क्या होता है यदि किसी भी लड़की को थोड़ा सा देख भी दो तो देखने वाले समझ जाते थे की बीच में केमिस्ट्री है इसलिए दोनों ठीक तरीके से बात नहीं कर पाते थे और न ही अच्छे से देख पाते थे । 

लड़की भी थी अलग गांव के और लड़का भी था अलग गांव से मुलाकात होती थी तो स्कूल में ही । उस समय न तो मोबाईल था न कुछ बस आँख ही था बातें करने के लिए और लेटर था बातें करने के लिए ।

ऐसे ही दोनों का मुलाकात होती , दोनों एक दूसरे को देखने लग । अब आता है वेलेंटाइन डे की बात उस था जो छुट्टी हो रहा था ताल लड़का लड़की को गुलाब के फूल दे रहा था तब उन्हें किसी लड़के ने देख लिया और देखकर जोर से चिल्ला दिया । 

दूसरे दिन जब स्कूल गए ये बात जो कानो कान हो गया और पुरे बच्चे इन सभी के बारे में बात करने लग । टीचर के पास भी इनके बारे में शिकायत पहुंच गई .

प्रिंसिपल और टीचर ने दोनों को खूब डाटा , फटकार लगाई और वार्निंग दे दिया की यदि तुम ऐसा करते हो तुन्हे स्कूल से निकल दिया जायेगा ।

दोनों इतना सर्मिन्दा हुई की उस दिन लड़की ने दोपहर को छुट्टी मांगकर वंहा से चले गए । 

इसके बाद में ये बात लड़की के भाई को पता चल गया उसके बाद में इन दोनों का मिलना , इक दूसरे की तरफ देखना बिलकुल ही बंद हो गया । और इस प्रकार से इन दोनों का प्यार लगभग 54 दिन तक ही चला .

उम्मीद करते है दोस्तों आपको ये स्टोरी Kahani Pyar Ki Chhattisgarhi Me (CG LOVE STORY) जरूर पसंद में आया होगा यदि आपको हमारी Kahani Pyar Ki Chhattisgarhi Me पसंद आया होगा तो आप इसे अपने दोस्तों के पास में ज्यादा से ज्यादा मात्रा में शेयर जरूर कर दीजियेगा । आपकी एक शेयर हमें कहानी लिखने के लिए हमें मोटीवेट करता है ।


RJ Kartik Story In Hindi जो आपकी जिंदगी बदलदेगी 

9+सफल बनाने Motivational Story For Students In Hindi

Top 5+समय की कीमत कहानी Samay Ka Sadupyog Kahani

Top 7+ Motivational Story In Hindi For Success 2022


 

Leave a Reply