1000+ chhattisgarhi dictionary best

स्वागत है आप सभी लोगो का हमारे इस ब्लॉग पोस्ट में। दोस्तों जैसे की आप सभी को पता है जिस प्रकार से किसी के भाषा को पकड़ बनाने के लिए उसकी लोकल भाषा की जानकारी होना बहुत ही जरुरी होता है ठीक उसी प्रकार से किसी भी शब्दावली को जानने के लिए भी उनके लोकल और जनसामान्य में प्रचलित भासा को भी जानना उचित होता है ।

इसी जान सामान्य की भासा और लोकल भाषाओ को समझने के लिए हम आपके साथ में फिर से लेकर के आ गे है chhattisgarhi dictionary के कुछ सबद्वाली को जा आपको छत्तीसगढ़ के विभिन्न जनसामान्य की भाषाओ को सिखने में आपकी मदद करेगा । जिससे आप छत्तीसगढ़ के chhattisgarhi dictionary से आप इस हसाओ का अध्यन कर सकते है ।

तो चलिए दोस्तों 1000 + से अधिक छत्तीसगढ़ के chhattisgarhi dictionary को समझते है :-

chhattisgarhi dictionary

छत्तीसगढ़ी भाषा  हिंदी भाषा
अउंटनादूध आदि का खोलकर गाढ़ा होना
अखियांना-आंख से इशारा करना
अंगरा– अंगारा
अचरा– आंचल
अंजोर– उजाला, प्रकाश
अंधियारी रात– चांदनी रात
अंधियार– अंधेरा
अंधरौटी– रतौंधी
अंधेर– अन्याय

 

अइलाना– मुरझाना
इसने– ऐसे ही
अक्ति– अक्षय तृतीया
अकरस– पहली बारिश
अकरस जुताई– पहली बार बारिश के बाद खेत की जुताई करने
अगुवाना– आगे निकल जाना
अंगोरना– इंतजार करना
अघोरा– प्रतीक्षा
अघाना – तृप्त होना ,पेट भर कर खाना ,इच्छा शेष न रहनातृप्त होना ,पेट भर कर खाना ,इच्छा शेष न रहना
अचोना– खाने के बाद मुंह हाथ होना
अजार– गंभीर बीमारी, तीव्र ज्वर, असाध्य रोग
– तीर तुक्के/ अंदाजा
अर्टरा– बड़े आकार का नींबू प्रजाति का फल
अंतलंग– शरारत, उपत्रों, उधम
अथान– अचार
अतलंगहा– अति उपद्रवी
अपखाया– स्वार्थी
अबक तबक– अति शीघ्र , किसी भी क्षण , मरणासन्न
अब्बड अकन– बहुत सा , जरूरत से ज्यादा

chhattisgarhi dictionary

अबेर अबेरहा– देर , विलंब
अभीच– अभी की
अमचूर– आम का चूर्ण
अम्मठ– खट्टा
अमरईया– पहुंचाने वाला , आम का बाग
अमरना– पहुंचना
अरकट्टा– छोटा रास्ता , शॉर्टकट
डगनी– कपड़ा टांगने का बास का डंडा
अरमपपई– पपीता
अलकर– सुविधाजनक तंग या सकरा स्थान
अलकरहा– बेतुका , बेगड़ा
अल्लार / अल्लरहा– सुस्त
अलहन– मामूली दुर्घटना या अशुभ प्रसंग
नीमारना/अलहोरना– अनाज से कचरा अलग करना , छांटना
नीमारना/अलहोरना– अनाज से कचरा अलग करना , छांटना
असकट लगना– उबना
अस्नान– स्नान, नहाना
आंच –ताप
आंटी– मकान के नीचे हिस्से में बना चबूतरा
आंठी– दही का थक्का
आगर उपराहा– अतिरिक्त
आमाजुडि– पेचिश
आरुग– पवित्र , शुद्ध
आरो लेना– टोह लेना
इब्बा– गिल्ली
उत्ता– जल्दी-जल्दी
उत्ती– पूर्व दिशा
उरमाल– रुमाल
उरिद– उड़द
उलान बाटी– सिर के बाल पालटी मारना

chhattisgarhi dictionary  || Chhattisgarhi Shabdkosh|| Chhattisgarhi shabdkosh PDF

एक कनिकथोड़ा सा
एक जुवरिया– 1 जून का कार्य , दोपहर के बाद का कार्य
एक पैयापगडंडी पगडंडी
एक मईमिला हुआ
एक हत्थीएक ही हाथ में सुरक्षित
एसोइस साल
एहवातीसुहागिन
एठुअकड़बाज, घमंडी
ओनहाकपड़ा
आन्हारीरवि फसल , चना

 

ओरवातीछत्तीसगढ़
ओरयानापंक्ति में रखना
ओलीथैलेनुम आकृति जिसे साड़ी को कमर पर चारों और लपेटकर बनाया जाता है।
ओसकनाहवा / पानी का कम होना
ओसानाअनाज से भूसा उड़ा कर अलग करना
ओडहरबहाना
कंडीललालटेन
कंदईपानी के पास रुकने वाला फूल पौधा
कांछापुराने पशु के बदले नया खरीदना
किंजरनाटहलना , घूमना

 

कइनाकन्या
कई पईतबार-बार
काका दाईदादी
कच लोहियाकच्चा
कटवागले में पहनने का आभूषण / धान की पत्ती को काटने वाला कीड़ा
कडहाकीड़ा लगा हुआ
गोदरी कथरीपुराने कपड़ों को सील कर बनाया गया बिछाना
कंफपटाटिड्डा
कनघटेरसुनकर ना सुनने का दिखावा करने वाला /अनसुनी करने वाला
कनिहाकमर

 

कन्हारकाली मिट्टी की भूमि
कन्नौजीमिट्टी की कड़ाई
कपारमाथा
कपिलाकाले रंग की गाय
कमर छठमाता द्वारापुत्र एकल्याण के किए जाने वाला व्रत/ हलषष्ठी
कमियांश्रमिक मजदूर
करगाएक किस्म के धान में अन्य प्रकार का उगा हुआ धान
करछुलबड़ी चम्मच
करपाकटी हुई फसल के छोटे-छोटे बंडल
करमाआदिवासियों का एक प्रमुख लोक नृत्य

Leave a Reply