You are currently viewing Chhattisgarhi Rajbhsha Aayog Kya Hai || छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग
Chhattisgarhi Rajbhsha Aayog Kya Hai

Chhattisgarhi Rajbhsha Aayog Kya Hai || छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग

Chhattisgarhi Rajbhsha Aayog Kya Hai ये प्रश्न सभी के मन में उठता है . तो आइये जानते है इस प्रश्न के उतर को एक प्रकार का सरकारी संगठन है । जो छत्तीसगढ़ शासन के राजकीय भाषा छत्तीसगढ़ी भाषा को विशेष दर्जा दिलाने , उन्हें राज्य के अन्य भाषाओ की तरह प्रत्साहन करने के लिए इस आयोग की स्थापना की गई है ।

छत्तीसगढ़ी भाषा आयोग वर्तमान में भी छत्तीसगढ़ के राजकीय भाषा के संरक्षण में आज भी सतत कार्य कर रहे है और उन्हें प्रोत्साहित भी कर रहे है । छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग की गठन सन 28 नवबर 2007 में की गई और प्रत्येक वर्ष इसे छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा 28 नवम्बर को  राज भाषा दिवस के रूप में मनाया जाता है ।

इस राज भाषा का प्रकाशन राजपत्र के गजट में 11 जुलाई सं 2008 को प्रकाशित किया गया । प्रकाशन के बाद इस आयोग के कार्य की शुरुआत 14 अगस्त 2008 को शुरू किया गया । इस आयोग के प्रथम अध्यक्ष पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी एवं प्रथम सचिव के रूप में पदमश्री डाक्टर सुरेंद्र दुबे जी रहे । छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में स्थित है । छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के वर्तमान अध्यक्ष 2021 के  डॉ.विनय पाठक है ।

Chhattisgarhi Rajbhsha Aayog Kya Hai संक्षिप्त परिचय  

छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग
छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग अधिनियम
छत्तीसगढ़ विधानसभा में छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग के अधिनियम
विधेयक का नाम         –             छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग अधिनियम
विधेयक पारित                        28 नवंबर 2007 को
राजपत्र में प्रकाशन                   11 जुलाई 2008
आयोग का कार्य आरंभ              14 अगस्त 2008
राजभाषा दिवस           –             28 नवंबर को प्रति वर्ष
प्रथम अध्यक्ष।             –             पंडित श्याम लाल चतुर्वेदी
द्वितीय अध्यक्ष                        श्री दानेश्वर शर्मा
तृतीय अध्यक्ष                          विनय कुमार पाठक
प्रथम सचिव                –              पदम श्री डॉक्टर सुरेंद्र दुबे

छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग उद्देश्य /लक्ष्य

छत्तीसगढ़ राज्य के विचारों की परंपरा और समग्र भाषाई विविधता के परीरक्षण , विकास करने तथा इसके लिए भाषाई अध्ययन, अनुसंधान तथा दस्तावेज संकलन, सृजन तथा अनुवाद , संरक्षण, प्रकाशन तथा अनुसंस्थाओं के माध्यम से छत्तीसगढ़ी पारंपरिक भाषा को बढ़ावा देने हेतु शासन में भाजपा के उपयोग को उन्नत बनाने के लिए छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग का गठन किया गया है। आयोग के प्राथमिक लक्ष्य एवं उद्देश्य निम्नांकित है –
1. राज्य भाषा को संविधान की आठवीं अनुसूची में दर्ज कराना
2 . राजकाज की भाषा में उपयोग
3 . त्रिभाषा की भाषा के रूप में शालेय पाठ्यक्रम में शामिल करना

छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग योजनाएं

  • माय कोठी योजना – लेखकों से उनकी छत्तीसगढ़ी में प्रकाशित रचना की 2 – 2 प्रति खरीदना
  • बिजहा योजना – विलुप्त हो रहे छत्तीसगढ़ी शब्दों का संकलन

अन्य कार्य –
शब्दकोश – हिंदी छत्तीसगढ़ी
शब्दकोश – हिंदी छत्तीसगढ़ी शब्दकोश
प्रकाशन – पांडुलिपि प्रकाशन
शोध – रामचरितमानस में छत्तीसगढ़ी शोध

विशेष –
* छत्तीसगढ़ी ला लोकप्रिय बनाय बर राज काज के दिशा मा कार्य करे गिस
* अनेक विधायकों द्वारा विधानसभा में छत्तीसगढ़ी में शपथ ग्रहण।
* कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय में छत्तीसगढ़ी पाठ्यक्रम चालू करने की घोषणा

छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग का प्रांतीय सम्मेलन की सूची

क्र प्रांतीय सम्मेलन स्थान सम्मिलित व्यक्ति Date
1 प्रथम प्रांतीय सम्मेलन भिलाई null 23-24 फरवरी 2013
2 द्वितीय प्रांतीय सम्मेलन रायपुर null 24-25 फरवरी 2014
3 तृतीय प्रांतीय सम्मेलन बिलासपुर null 20-21 फरवरी 2015
4 चतुर्थ प्रांतीय सम्मेलन कोरबा डॉ.पालेश्वर प्रसाद शर्मा 19-20 फरवरी 2016
5 पंचम प्रांतीय सम्मेलन राजिम डॉ. कवी पवन दीपक 28-29 फरवरी 2017
6 षष्ठ प्रांतीय सम्मेलन बेमेतरा डॉ. विमल कुमार पाठक 19-21 जनवरी 2018

 

छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग ऑफिसियल वेबसाइट – https://chhattisgarh.mygov.in/

छत्तीसगढ़ी राजभाषा दिवस क्यों मनाया जाता है ?

Chhattisgarhi Rajbhsha Aayog Kya Hai
Chhattisgarhi Rajbhsha Aayog Kya Hai

आप सभी लोगो को पता होगा की जैसे की भारत में कई सारे राज्य है और उनके अपना एक विशेष भाषा है और उन्ही विशेष भाषा के कारण से उनकी एक अलग पहचान है , उनकी संस्कृति की अलग एक पहचान है , उनकी भाषा की अलग एक पहचान है । ठीक उसी तरह से छत्तीसगढ़ सरकार ने अपनी राज्य की गरिमा , भाषा , परिवेश , लिपि , पहचान को निरंतर बनाये रखने , संजोये रखने के लिए राजभाषा दिवस की घोसना की है ।

राजभाषा दिवस के दिन राज्य के किसी भी , कवी , लेखक , कविताकार , या कोई व्यक्ति राज्य के बोली , भाषा की , राज्य के परिवेश से जुड़े हुए कोई भी पुस्तक , बुक्स , पत्र , पत्रिकाय , शोधपत्र , रिसर्च आदि को संजोकर के इस दिन प्रकाशित या शासन से समक्ष रखता है और राज्य के मान को बढ़ाता है ।


छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग के वर्तमान अध्यक्ष ||  छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग website || छत्तीसगढ़ी राजभाषा दिवस || राजभाषा के रूप में छत्तीसगढ़ी का विकास || छत्तीसगढ़ी राजभाषा दिवस क्यों मनाया जाता है ||छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के वर्तमान अध्यक्ष 2022 || छत्तीसगढ़ी भाषा साहित्य की पत्र पत्रिकाएं, राजभाषा आयोग के प्रथम अध्यक्ष ||


Fruit Names In Chhattisgarhi || छत्तीसगढ़ी भाषा में फलो के नाम

Chhattisgarhi Me Pakshiyo Ke Naam |पक्षियों के नाम-छत्तीसगढ़ी शब्दावली

पशुओं के नाम छत्तीसगढ़ी भाषा में || Pashuo Ke Nam Chhattisgarhi Bhasha Me

Vegetable Names In Chhattisgarhi || छत्तीसगढ़ी में सब्जियों के नाम

Chhattisgarhi Me Sharir Ke Angon Ke Naam|छत्तीसगढ़ी अंगों के नाम

Chhattisgarhi Rishte Naate Ke Naam Hindi/ENGLISH

Top – 2 छत्तीसगढ़ी कहानी

छत्तीसगढ़ के पुरस्कार के नाम | Chhattisgarh Ke Puruskar Ke Nam

1001+ छत्तीसगढ़ी शब्दकोश || Chhattisgarhi शब्दकोष]

10+ छत्तीसगढ़ी कहानी | cg kahani | chhattisgarhi kahani

1+ छत्तीसगढ़ी लोक कथा || chhattisgarhi lok katha 

कलचुरी कालीन छत्तीसगढ़ की सामाजिक एवं आर्थिक दशा का वर्णन || कलचुरी कालीन शासन व्यवस्था

 

 

Leave a Reply