हिंदू धर्म में जन्मदिन | Hindu Dharm Mein Janmadin Kaise Manaaya Jaata Hai

  • Post author:
  • Post category:Business Idea
  • Post last modified:January 8, 2023
Rate this post

हेलो दोस्तों स्वागत है आप सभी का हमारे इस ब्लॉग पोस्ट में । दोस्तों यदि आप भी यदि हिन्दू है और आपका किसी भी दोस्त का बर्थडे आने वाल है या फिर खुद का बर्थडे आने वाला है तो यह सोच रहे होंगे की हिन्दुओ के द्वारा किस प्रसे से बर्थडे मनाया जाता है (Hindu Dharm Mein Janmadin Kaise Manaaya Jaata Hai), कौन कौन कौन से रीतिरिवाज के साथ में वे अपना बर्थडे को मानते है इन सभी के प्रश्नो के उत्तर आप ढूंढने की कोशिश कर रहे हैलेकिन आपको कोई भी सही तरीके से उत्तर नहीं मिल पाया होगा ।

तो आज की इस पोस्ट KE माध्यम से हम आपको हिन्दुओ के द्वारा किस प्रकार से बर्थडे को मनाया जाता है चाहे किसी का भी हो इस पोस्ट के माधयम से हम आपको हिंदू धर्म में जन्मदिन कैसे मनाया जाता है | वैदिक रीति से जन्मदिन कैसे मनाएं जाता है इस बारे में डीटेल्स के साथ में जानकरी देने वाले है । हिंदू धर्म में जन्मदिन कैसे मनाया जाता है|

वैदिक रीति से जन्मदिन कैसे मनाएं जाते है इस पोस्ट के बारे में ने मैंने 7 से 8 घंटे तक का रिसर्च किया है और मेरे कई दोस्तों को इस विषय में जानकारी लिया है तब मैंने इस पोस्ट को मैंने खासकर के उन लोगो के लिए तैयार किया है जो How birthday is celebrated in Hinduism है । तो चलिए इस पोस्ट में आगे बढ़ते है :-

हिंदू धर्म में जन्मदिन कब से मनाया जा रहा है | Hindu Dharm Mein Janmadin Kaise Manaaya Jaata Hai

Hindu Dharm Mein Janmadin Kaise Manaaya Jaata Hai हिंदू धर्म में जन्मदिन मनाने का कोई विशेष उल्लेख नहीं है। हालाँकि, जन्मदिन मनाने की परंपरा को कई हिंदुओं ने अपनाया है और अब यह हिंदू संस्कृति में एक आम बात है। हिंदू धर्म में, किसी व्यक्ति के जन्म को एक पवित्र दिन या पूजन के रूप में देखा जाता है और यह माना जाता है कि आत्मा कुछ लक्ष्यों को पूरा करने और भौतिक संसार का अनुभव करने के लिए भौतिक शरीर में जन्म लेती है।

जन्म का दिन इसलिए किसी व्यक्ति के जीवन में एक महत्वपूर्ण दिन माना जाता है और अक्सर समारोहों और अनुष्ठानों के साथ चिह्नित किया जाता है। कुछ हिंदू अपने जन्मदिन को अपने जीवन में प्राप्त आशीर्वादों के लिए धन्यवाद देने और आने वाले वर्ष के लिए देवताओं का आशीर्वाद लेने के रूप में भी मनाते हैं।

हिंदू धर्म में जन्मदिन | birthday is celebrated in Hinduism

How birthday is celebrated in Hinduism के दिन सभी सामने को एकत्रित करके उन्हें घरो में सजाया जाता है । जैसे की सामने में गुब्बारे, मोमबत्तिया, जगमगाते हुए लाइट की व्यवस्था के साथ में चारो तरफ रौशनी किया जाता है । जन्मदिन के शाम के समय HINDU ME JANM DIN को मनाया जाता है । जन्म दिन आसपास के सभी लोगो को बुलाया जाता है साथ ही परिवार के अन्य सदस्यों को भी बुलाया जाता है जो दूसरे गांव में रहते है । इसके आलावा जिसका जन्मदिन होते है वह अपने दोस्तों को बुलाते है ।

जिसका जन्म दिन होता है वह व्यक्ति या पुरष हो या नारी हो या बच्चे हो को एक विशेष कपड़ा या नया कपडे पहनाया जाता है और परिवार के सभी सदस्य भी नए कपडे पहनते है । परिवार के सभी सदस्य एक जगह शाम के समय एकत्रित होकर के जिस व्यक्ति का जन्मदिन है उसे एक जगह में जैसे खुर्सी या अन्य जगह में अपने व्यवस्था के हिसाब से बैठाया जाता है ।

हिंदू धर्म में जन्मदिनFULL DETAILS
पूजा अर्चनाकी जाती है
हिंदू धर्म में जन्मदिन भोजन की व्यवस्थाव्यवस्था की जाती है
हिंदू धर्म में जन्मदिन गिफ्ट देनादिया जाता है
हिंदू धर्म में जन्मदिन केक काटनाकी जाती है
हिंदू धर्म में जन्मदिन कैसे मनाया जाता है

हिंदू धर्म में जन्मदिन वाले व्यक्ति की पूजा अर्चना | Worshiping the birthday person in Hinduism

जिस भी व्यक्ति का जन्मदिन रहता है उसे एक स्थान में बैठने के बाद में सबसे पहले दीपक, फूल, चावल को थाली में पकड़कर के उनके माता और पिता के द्वारा बच्चे की पूजा अर्चना की जाती है । इसके आलावा घर के बड़े बुजुर्गो के द्वारा भी पहले पूजा की जा सकती है । इस पूजा को जितने भी घर के सदस्य आये हुए रहते है तो वे उस व्यक्ति का पूजा अर्चन करते है । पूजा अर्चन अपने इष्टदेव के नाम से , अपने देवी देवताओ के नाम से बच्चे के मनोकामना, उनकी देखरेख, लम्बी उम्र की कामना, उनकी उम्र की कामना करते हुए किया जाता है ।

पूजा करते हुए उन्हें चावल का टिका या गुलाल का टिका लगाया जाता है । यदि जन्म दिन वाला व्यक्ति बढ़ा है तो सभी घर के सदस्य उनके चरण छूकर के आशीर्वाद देते है । यदि जिसका जन्मदिन है वह व्यक्ति अच्छा है तो वह बड़ो का आशीर्वाद लेता है ।

हिंदू धर्म में जन्मदिन गिफ्ट देना | Hindu Dharm Mein Janmadin Kaise Manaaya Jaata Hai

पूजा अर्चन करते समय घर के सभी सदस्यों के द्वारा या बाहर से आये हुए परिवार जनो और दोस्तों के द्वारा GIFT दिया जाता है । यह गिफ्ट किसी भी प्रकार के हो सकते है । माता पिता के द्वारा बच्चे के पसंद के गिफ्ट देते है और परिवार वालो के द्वार भी कुछ गिफ्ट दिया जाता है । दोस्तों के द्वारा भी गिफ्ट दिया जाता है । यह GIFT पूजा अर्चन करते समय दिया जाता है । यदि बच्चा है तो उन्हें उन्हें खिलौने, कपडे, पैसे, बुक्स, घडी, जुटे गिफ्ट किये जा सकते है ।

हिंदू धर्म में जन्मदिन केक काटना | How birthday is celebrated in Hinduism

पूजा अर्चना करने के बाद में केक को बच्चे के सामने लाया जाता है । केक के ऊपर बच्चे के द्वारा मोमबतिया जलाया जाता है । और तालियों के साथ में आये हुए सभी सदस्यों और परिवार के सदस्यों के द्वारा HAAPY BIRTHDAY GEET गया जाता है । बच्चे के द्वारा सभी मोमबत्तियों को बुझाया जाता है और अंत में बच्चे के द्वारा केक कांटा जाता है और आये हुए सभी लोगो को खिलाया जाता है । बच्चे को भी केक खिलाया जाता है । इस प्रकार से केक हिंदू धर्म में जन्मदिन कैसे मनाया जाता है में जन्मदिन मनाया जाता है ।

हिंदू धर्म में जन्मदिन भोजन की व्यवस्था | Hindu Dharm Mein Janmadin Kaise Manaaya Jaata Hai

केक काटने के बाद में आये हुए मेहमान को भोजन खिलने के लिए पूरी व्यवस्था की जाती है । इस भोजन में कुछ भी बनाया जाता है साधा सब्जी भी को सकता है, चिकन भी हो चिकन भी हो सकता है । इसके आलावा पूड़ी, बढ़ा, समोसा, भजिया, रसगुल्ला, गुलाबजामुन, अन्य मिठाईया, पनीर की सब्जी, मटर की सब्जी, आलू मटर की सब्जी, गोभी मटर की सब्जी, चिकन, बिरयानी, मशाला बिरयानी, पापड़, और अन्य जो भी समय रहते है वे अपने शक्ति के अनुसार बनाते है और सभी सदस्य एक साथ बड़े हसी ख़ुशी के साथ में बैठकर के खाना खाते है और खिलाते भी है ।

हिन्दुओ की सबसे बढ़ी कस्बात यह की वह घर आये हुए किसी भी व्यक्ति को भूखा नहीं भेजते है । उन्हें कुछ न कुछ जरूर जलपान करने के लिए देते है । क्योंकि हिन्दुओ में मेहमान को भगवन का दर्जा दिया जाता है इस कारण से वह ऐसा करते है ।

MY OPENION

Hindu Dharm Mein Janmadin Kaise Manaaya Jaata Hai
Hindu Dharm Mein Janmadin Kaise Manaaya Jaata Hai

हिंदू धर्म में जन्मदिन कैसे मनाया जाता है इसके बारे में आपको पूरी जानकारी दे दी गई । दोस्तों इस प्रकार से हिन्दुओ में जन्मदिन को मनाया जाता है लेकिन आधुनिक युग में अब थोडा बहुत बदलाव आ गए है । अब तो जन्मदिन में DJ की व्यवस्था भी की जाती है और सामूहिक रूप से डांस भी किया जाता है । लेकिन यह कल्चर बहुत नया है और बहुत ही महंगा है जिसे कारन से इसे अफोर्ट करना आम जनता के लिए नहीं के बराबर है ।

तो दोस्तों यह मेरी राय थी जो हिन्दुओ के द्वारा जन्मदिन को मानाने के पीछे के सभी उद्देश्यों को बता दिया गया है यदि आपको इस पोस्ट में कोई कमी नजर आती है तो अप्प उसे कमेंट कर के बता सकते है ।

Leave a Reply