You are currently viewing Top 7+ Motivational Story In Hindi For Success 2022
Motivational Story In Hindi For Success

Top 7+ Motivational Story In Hindi For Success 2022

दोस्तों ये जिंदगी है यंहा कब क्या हो जायेगा किसी को पता नहीं इसी लिए हम आकपे लिए लेकर के आये है Short Motivational Story In Hindi For Success जो आपको अंदर से इतना MOTIVATE कर देगा जी आप जिंदगी उस मुकाम में पहुंच जायेंगे जो आज तक आपने कभी सोचा भी नहीं था तो चलिए इस सक्सेस स्टोरी Real Success Story In Hindi  के सीरीज़ को पढ़ते है ।

Motivational Story In Hindi For Success
Motivational Story In Hindi For Success

मोटिवटीनल कहानिया 

 1 . सक्सेस का मन्त्र (Motivational Story In Hindi For Success)

दोस्तों ये हिंदी स्टोरी  Short Motivational Story In Hindi For Success है एक सन्यासी की जो एक नदी के दूसरी तरफ रहा करते थे । और नदी के किनारे के उस पर उसका भक्त भी था और उसका परिवार यानि की दोनों को मिला दे तो भक्त परिवार रहा करते थे ।

उस छोटे से परिवार में एक माता जी , पिता जी और बिटिया थी । इस छोटे से परिवार का रोज का बस एक ही काम रहता था की शाम के वक्त उसके लिए यानि की उस साधु के लिए गाय की दूध ले जाने का काम किया जाता था । साधु की बड़ी महिमा थी की वह मात्र दूध को पीते थे और भगवान के भजन में लीन रहते थे ।

रोजाना वो तपस्या में लीन रहते थे । और शाम को घर के कोई न कोई सदस्य उसके लिए गाय के दूध उन तक पंहुचा आते थे ।

वो बाबा जी जो समुद्र के उस पर तपस्या कर रहे थे उनकी इच्छा थी , वो अपनी इच्छा के लिए वो कई सालो से लगातार उस इच्छा को पाने के लिए तपस्या कर रहा था । उसकी ख्वाहिश थी की वह एक बार पानी में चेले और पानी में चलने की सिद्धि प्राप्त करना चाहते थे इसलिए वह लगातार तप करते जा रहा था ।

सालो दर सालो बीत गया कुछ ही महीना में गर्मी चली गई और मानसून चला आया । और उसके जो पिता जी थे उनको किसी काम के लिए बाहर जाना पड़ा तो घर माँ और बिटिया थी ।

तो माता जी ने अपने बिटिया को कहा आज शाम को तुम्हे बाबा जी के लिए गाय के दूध को लेकर के जाना है । और कुछ ही समय में सुबह से शाम हो गया पता ही नहीं चला ।

बिटिया शाम को दूध की केतली पकड़ी तैयार हुई ही थी की अचानक से काळा घने अँधेरे बदल छा गए और हलके हलके बारिश के फुहारे गिरने लगी ।

बिटिया के माँ ने बिटिया को कहा की बाबा जी से छोटी सी बात कहना कल उनके लिए दूध नहीं ला पाएंगे क्योकि कल ज्यादा बारिश होने की आशंका है तो उनको ये छोटी सी बात बता देना ।

बिटिया दूध के केतली को पकड़ी और नदी  को पार करके पहुंच गई बाबा जी के आश्रम मर पहुंची । तो बाबा जी उस समय धयान में बैठे हुए थे ।

दूध की केतली को रही और प्रमाण कर के बोली की आज माता जी का आदेश है की घनघोर बारिश हो सकती है इसलिए मै आपके लिए कल दूध ले के नहीं आ पाऊँगी । और मेरे पापा जी भी शहर गए हुए है ।

तो वो सन्यासी से लड़की के बात को सुनकर के कहा – की बेटा क्यों परेशान हो रहे हो ?

बाबा जी आगे कहा , – नै तुझे एक ऐसी मन्त्र दूंगा जिससे कितनी भी बारिश हो रही हो , कितनी भी घनघोर वर्षा हो रही हो तुम पानी पार चलकर के पानी से उस पार से इस पार आ जाओगी ।
लड़की ये सुनकर चौक गई ।
लड़की ने कहा बाबा जी सच में !
तो बाबा जी ने कहा – हा ! ये मन्त्र तुम मुझे से ले कर के जाओ और अगर बारिश हो जाये , अगर नदी में पानी भर जाये तब भी इस मन्त्र से पानी में चलकर के आ जाना और गाय का दूध ले कर के आ जाना ।

बाबा जी कहा – क्योकि मेरी तपस्या में कोई भंग नहीं पड़ना चाहिए ।
लड़की साधु को फिर प्रणाम करके घर वापस आ गई और घर में आकर के अपनी माँ को सारी बात बताई ।
लड़की के बात को सुनकर के उसकी माँ को विस्वाश नहीं हुआ लेकिन फिर भी तसल्ली देने के लिए बाबा जी के कहा है तो होगा ही ।
ये कहकर के वो दोनों सो गई ।

फिर शुबह हुई और अगली शाम में घनघोर बारिश हो रही थी । बारिश के पानी से नदी में पानी आ चूका था । नदी लबालब भरा हुआ था ।

ये देखकर के लड़की के माँ उसकी फ़िक्र करते हुए कहा की बेटा आज मत जाओ उसने बहुत सारी बाते कहने लगी  ।
तो लड़की ने कहा – नहीं माँ मुझे विश्वाश है की मै नदी पार कर लुंगी घबराओ मत । इतने बड़े बाबा जी है , इतने बड़े सन्यासी है और हम इतने दिनों से उनके लिए दूध लेते जा रहे है और सेवा करते आ रहे है ।

और ऐसे ही उनका मन्त्र विफल होगा ।
तो उसकी माँ ने भी सोचा की चलो ठीक है ।
लड़की चाय की केतली थी उसको पकड़ी और चली गई अपने घर और वो केतली उसके हाथ में थी । और कुछ ही देर में वह नदी के पास में पहुंची ।

नदी से इस पार से उस पार जाना था और नदी में लबालब पानी भरा हुआ था और उफान भी चल रहे थे नदी में बाढ़ भी आ रहा था । लड़की ने साधु के बताये मन्त्र को पड़ी ।
और मन्त्र को जपते जपते पुरे नदी को पार कर ली और नदी को पार करने के बाद उस बाबा जी के आश्रम में पहुंची और हाथ में पकड़ी गाय के दूध को वंही रख दी .

केतली को रखकर के बाबा जी को प्रणाम करने लगी । और जैसे ही लड़की ने बाबा जी को प्रणाम किया बाबा जी देखते ही रह गए । बाबा जी देखकर के सुन्न हो गए और उनको लगा की ये क्या हो गया उस चमत्कार को मन ही मन नमस्कार करने लगे .
उन्हें लगा उन्होंने सिद्धि प्राप्त कर ली है वो उस लड़की को देखकर के सोचने लगा की वह कई वर्षो से तपस्या करते आ रही थी आज वह सिद्ध हो गई ।

उनके वजह से उनके दिए हुए मन्त्र की वजह से एक लड़की नदी पार करके पानी पार चलते हु आ गई । मन ही मन बाबा जी बहुत ही खुश हो गए ।
उस लड़की को बाबा जी ने कहा धन्यवाद बेटा ! कहके और लड़की बाबा को प्रणाम कर के मन्त्र जपते हुए नदी पार करके घर घर आई गई ।
बाबा जी लड़की को पानी में चलते हुए देख रहे थे और ये देखकर के बाबा जी मन ही खुश हो गए । उनके मन ख़ुशी से झूम उठा वह नाचने लगा , और कहने लगा की अब तो कमाल हो गया है ।

लड़की को चलते देख बाबा जी के मन में विचार आया की क्यों न मई खुद चल के देखु ।
ये सोचकर के बाबा जी नदी किनारे पानी में चलने के लिए आये नदी से इस पार से उस पार तक जाने की कोशिश करने लगे । जैसे ही बाबा जी अपने पेअर को रखा बाबा जी दुब गए ।
बाबा जी तो दुब गए लेकिन वो जो लड़की तो जो पानी में चलकर के उस पार गई आखिर क्यों ?

क्योंकि इस क्यों का उत्तर यह है  की बाबा जी को अपने ही मन्त्र पार खुद ही विस्वाश नहीं हो रहा था और उस लड़की को उस मन्त्र पार विश्वाश था । उसे विश्वाश था की वो नदी पार करके बाबा जी तक वो दूध को पंहुचा देगी ।

ये छोटी सी विश्वाश की हिंदी मोटिवेशनल स्टोरी Motivational Story In Hindi For Success बहुत बड़ी बात सिखाती है । जितने सारे गरीब लोग जो बाद में अमीर बने उनको विश्वाश था की वो अपने आप को बदल सकते है । राइट ब्रदर्स को विस्वाश था की प्लेन एक न एक दिन जरूर उड़ेगा । विश्वाश रखिये खुद पर क्योंकि  जमाना आपने बुराई कमी निकलता रहेगा जब तक आप खुद पर कॉन्फिडेंस नहीं होंगे आप चेंगे नहीं  ला सकते ।

दोस्तों ये छोटे सी हिंदी मोटिवेशनल  स्टोरी Success Motivational Story In Hindi कैसे लगी । आप ने इस मोटिवेशनल कहानी Real Success Story In Hindi से क्या सीखा ।

2 . पीछे जाने के रस्ते जला दीजिये (Motivational Story In Hindi For Success)

 छोटी सी हिंदी स्टोरी Short Motivational Story In Hindi For Success एक बार की बात ही एक देश ने दूसरे देश में हमला/अटैक कर दिया । दूसरे देश के राजा के पास में उतने सेना नहीं थे की उस हमला करने वाले देश को करारा जवाब दे सके । उनके पास में अच्छे प्रशिक्षित सैनिक भी नहीं थे । न उतना आधुनिक हथियार था ।  न ही हमलावर योद्धा था ।

राजा ने अपनी सभी सेना को बुलाया और तुरंत ही सारे सेना , सैनिक , हमलावर , योद्धा राजा के पास में एकत्रित हो गए ।
सभी सेनाओ के आ जाने के बाद में राजा ने कहा की हमें रणभूमि में जाने की आन तान पड़ी है लेकिन हमारे पास में ज्यादा सैनिक भी नहीं है और हम बहोत कम संख्या में भी है ।

हमसे दस गुनी सेना , हमसे दस गुनी हथियार सामने वाले देश के पास है ।
उस योद्धा ने कुछ ज्यादा तो सोच तो नहीं पाया लेकिन उसने सारे सेना के औजार को सारे सैनिको को जहाज में भरा और समुद्री रस्ते हे होते हुए उस रन में पहुंच गया । जंहा पर वे दूसरे राज्य के राजा जो इस देश पर हमला किया था ।
कुछ ही देर में वे सभी सैनिको को और सारे हथियार को उस जहाज से निकाल लिया तो उस योद्धा ने सभी सैनिको को कहा – की इस जहाज को आग लगा दो ।

सैनिको को तो कुछ भी समझ में नहीं आया की ये राजा क्या कर रहा है लेकिन उसने कुछ न सोच राजा का आदेश को पाकर के उस जहाज को आग लगा दी गई ।
ये सब होने के बाद में जहाज को आग लगा देने के बाद में फिर से योद्धा ने अपने सैनिको को सम्बोधित , उनको मोटिवेट किया उन्होंने कहा – जो आप देख रहे है की इस नदी की और इशारा करते हुए पुरे जोश के साथ में कहते है

ये जो देख रहे है जो आपके पीछे जहाज जल रहा है और हमारे पास में सिर्फ एक ही रास्ता है और वो है रन के मैदान में लड़के का और विजय प्राप्त करने का ।
योद्दा ने फिर से जोश भरते हुए सैनिको को कहा अब हमारे पास में पीछे जाने के कोई भी रास्ता नहीं बचा है जो जो रास्ता था उसे जला दिया गया है ।

और उसके कुछ ही छन बाद युद्ध शुरू हुआ और मात्र सैनिको के पास में एक ही रास्ता था , और एक ही ऑप्शन था की जी भर के लड़े और लड़ते-लड़ते उस छोटे से राज्य के सैनिको ने उन बड़े राज्य के योद्धाओ को पास्ट कर दिया ।

देखते ही देखते उन्हें हजारो की सैनिको की पूरी बारात मातम में बदल गया और उनके सारे सैनिक मारे गए । रन में सभी तरफ अफरा तफरी मची हुई थी और खून ही खून दिखाई दे रहा था ।
और थोड़े ही देर में उस राज्य के राजा अपने आप को पराजित महशुस कर लिया रन छोड़ कर के भाग गया ।

और इस प्रकार से कम संख्या में होते हुए भी उस राजा ने अपने राज्य में हो रहे हमले को बचा लिया , अपने राज्य को दोस्तो के हाथो में जाने से बचा लिया ।

ये छोटी सी सक्सेस मंत्र  Motivational Story In Hindi For Success हमें जिंदगी के बहुत बड़ी को सिखाती है जिंदगी में सफल होना है तो पीछे जाने के जितने भी रस्ते  है उन्हें जला दीजिये । जिंदगी में एक ही ऑप्शन रखिये और वो ऑप्शन है जीत का ऑप्शन और जिंदगी में तय कर ले की यह करना है । चाहे वह आपके परसनल या प्रोफेशनल जिंदगी हो आप  वो  कर  दिखाएंगे । दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं है और जरुरत है तो उसे पूरा करने की |

दोस्तों ये छोटे सी हिंदी मोटिवेशनल  स्टोरी Success Motivational Story In Hindi कैसे लगी । आप ने इस मोटिवेशनल कहानी Real Success Story In Hindi से क्या सीखा ।

3 . सपने देखते रहिये (Positive Thinking Motivational Story In Hindi For Success)

तीसरी लाइफ चेंजिंग Motivational Story In Hindi For Success हममे से कई सरे लोगो को लगता है मेरे पास में ये होता तो मै वो होता और हममे से कई सारे लोग सपने इसलिए नहीं देखते ही की हमारे अंदर में कोई न कोई कमी है ।

एक बार की बात है एक बार जापान में एक 10 साल का लड़का रहा करता था । उस लड़के का नाम था ओकायो एक छोटा सा लड़का । जिसका सपना था की वह कराटे सीखे । लेकिन उसका दाया हाथ नहीं था ।

उसका दाया हाथ बचपन में एक एक्सीडेंट में कट चूका था । लड़के ने इस बात को अपने घर वालो को बताई की वह कराटे सीखना चाहते है तो ये सुनकर के उसके परिवार वाले बहुत ही ज्यादा चिंतित हो गए वो इस बात से परेशान हो गए की उसके एक हाथ नहीं है लेकिन वह कैसे कराटे सिख सकता है ।

लेकिन उस बच्चे के आगे उनकी एक ना चले उनके माँ पिता की अपने बच्चे को कराटे सीखने के लिए गुरु के पास में गए ।
मार्शल आर्ट के गुरु ने देखा की उसके एक हाथ नहीं है उसने कहा की – तुम्हारे एक हाथ नहीं है तुम कैसे अपने कराटे सिख सकते हो , कैसे कराटे कर सकते हो ।

बच्चे ने कहा कैसे सीखूंगा पता नहीं लेकिन सिखाएंगे मुझे आप । मेरा एक सपना है की मै किसी को हराना चाहता हु और सेंसई बनाना है और सेंसई का अर्थ है मास्टर बनना है ।
गुरुदेव ने बच्चे के प्रति उत्साह थे उस बच्चे को उसके दूसरे दिन से ट्रेनिंग देने का फैसला लिया ।
उसके दूसरे दीं ओकायो को 50 बच्चो के साथ में कराटे की ट्रेनिंग दी और उस दिन उसे एक एक मारने की प्रैक्टिस सिखाया ।

उसे रोज वही प्रैक्टिस करने के लिए कहा वह रोज आता और एक एक मारने की प्रैक्टिस करता और ऐसे करते करते उन्हें 3 माह हो गए ।
ओकायो ने देखा की बांकी बचो को अलग-अलग ट्रेनिंग दिया जा रहा है वो ये देखकर के बहुत ही ज्यादा नाराज हो गया और अपने मास्टर के पास में पहुंच गया और कहा – आप मुझे एक किक मारना ही सीखा रहे है । इन बच्चो न जाने क्या-क्या सीखा रहे हो ? बांकी मुझे कब सीखोगे ?
गुरु ने कहा चुप-चाप मेरी बात माननी है तो मनो वरना यंहा से छोड़कर के जा सकते हो !
उस दिन के बाद में लगातार 6 महीनो तक के ओकायो ने सिर्फ और सिर्फ किक मारने की प्रैक्टिस करने लगा .

आखिर कर कुछ महीनो में ट्रेनिंग पूरा हुआ । कराटे मास्टर ने सभी बच्चो एक साथ अपने पास में बुलाया और कहा की चलो भाई अब कॉम्पिटिशन का वक्त है । गुरुदेव ने कहा की इस प्रतियोगिता में जो जीतेगा वही संसई बने मास्टर बनेगा .

और कुछ ही छन में मैच शुरू हुआ . ओकायो का जो विरोधी था वह बहुत ही ज्यादा स्ट्रांग था और पहले ही मैच में ओकायो को डरा दिया और उसे पहले ही मैच में लगने लगा की वह अब हार जायेगा ।

ये देखकर की ओकायो डरा हुआ है मैच रेफरी में कहा की इस मैच को विरोधी को जीत घोषित कर दे । गुरु ने कहा नहीं मैच पूरी होने दो ।

और इसी सब के बिच में वह विरोधी था की वह ओवरकॉन्फिडेंस OVERCONFIDENCE STORY में आ गया और इसी मौके का इंतजार ओकायो कर रहा था ।
और जैसे ही उसके विरोधी का ओवरकॉन्फिडेंस हुआ ठीक वैसे ही ओकायो ने उसे जोर की किक मारी जो वह पिछले कई महीनो से सीखता आ रहा था ।

और मैच और सेंसई की उपाधि को उस कॉम्पिटिशन में जीत ही लिया । और उसके बाद में मास्टर जी से पूछा की मै एक ही किक से कैसे सेंसई बन गया ।

मास्टर ने मुस्कुराते हुए कहा – तुम दो वजहों से जीते हो । पहला वो जो तूने किक मारी है ना वो जो सबसे कठिन किक है उस पर तुम्हारी मास्टरी है ।
और दूसरा जो उस किक का तोड़ है की विरोधी का बाया हाथ पकड़कर के जोर से जमीन पर गिराना है । और वो बाया हाथ तो तुम्हारा है ही नहीं ।
तुम्हारी जो कमजोरी थी वही तुम्हारी सबसे बड़ी ताकत बनी ।

आज कल हमारे जिंदगी में इसी कहानी के भांति ही हो रहा है । आजकल हम ये सोच लाते है और मन बना लेते है की जिंदगी में हम कुछ भी नहीं कर सकते है ओकायो चाहता था तो जिंदगी में कुछ भी नहीं कर सकता और यही सोचता रह जाता की मेरा तो बाया हाथ नहीं है लेकिन उसके सपने भी इतने बड़े थे की उन्हें गुरु भी ऐसे मिले जिन्होंने उसे एक किक से ही सेंसई बना दिया ।

दोस्तों ये छोटे सी हिंदी मोटिवेशनल  स्टोरी Success Motivational Story In Hindi कैसे लगी । आप ने इस मोटिवेशनल कहानी Real Success Story In Hindi से क्या सीखा ।

4 . दुनिया से हटकर के काम कैसे करे(Motivational Story In Hindi For Success)

सुखी होने के बोहोत सारे रास्ते है लेकिन औरो से सुखी होने का कोई और रास्ता नहीं है ।

दोस्तों ये लाइफ चेंजिंग स्टोरी Positive Thinking Motivational Story In Hindi For Success  काल्पनिक  है । ये कहानी Success In Your Life है एक कैप ड्राइवर की जिसका नाम था वैली और उस बन्दे की जिसने उस कैप को बुक किया था हार्वे की ।
हार्वे कैप बुक कर चूका था और एयरपोर्ट में आने से पहले ही कैप को बुक कर चूका था और एयरपोर्ट से निकलकर के अपने कैप का वेट कर रहा था ।

तभी एक चमचमाती हुई कार उनके पास में आकर के रुकी । वह यह देखकर के चौक गया क्या वह यही गाड़ी है जो उसने बुक की है । वह असमंजस में था ।
उसने नंबर चेक किया तो वह वही गाड़ी था ।
ड्राइवर कार से बहार निकला उसने कार के पीछे  के दरवाजा खोला और हार्वे के हाथ में एक मिसन स्टेटमेंट थमा दिया । जिस पर  लिखा हुआ था  वैली Is missan statement .

उसने बताया की वह उसका कैप ड्राइवर है और उसका नाम वैली है । मैं आपके सामान को पीछे डिक्की में रख रहा हु तब तक की इस स्टेटमेंट को पढ़िए ।
ये कहकर के वह उनके सामान को गाड़ी के डिक्की में डालने लगा ।
उस स्टेटमेंट में लिखा हुआ था की मैं आपके घर तक कम समय में , सस्ते दाम में , सबसे पहले पहुंचाने की कोशिश करूँगा और सुरक्षित  तरीके से पहुंचाने की कोशिश करुगा और रस्ते में आपको कोई दिक्कत नहीं आएगी ।

हार्वे मन ही मन सोच रहा था की इस कैप ड्राइवर के पास में इतना सब कुछ है । वह अंदर गाड़ी में बैठा । तो वह अंदर जाते ही चौक गया गाड़ी एक साफ सुथरी , चकाचक था ।
वो ये सब मन में सोच ही रहा था की वैली ने पूछा – सर आपको ऐसी ठीक लग रहा है टेम्प्रेचर बढ़ाना , घटना है तो बता दीजिये ।
हार्वे ने कहा – नहीं सब कुछ ठीक है ।
तभी वैली ने कहा – सर ये कार्ड लीजिये इसमें सारे इस्टेसन है जो भी सुनना हो बता दीजिये मैं आपके लिए लगा दूंगा ।
हार्वे ने सोचा की ये बड़ा कमाल का बंदा है ।
फिर वैली ने कहा – आज का कोई न्यूज़ पेपर पढ़ना चाहेंगे , बहुत सारे न्यूज़ पेपर है आप जो पढ़ना चाहेंगे वो बता दीजिये । यह कहकर के वैली ने उसे न्यूज़ पेपर थमा दिया ।
हार्वे ये सोच रहा था की वैली ने कहा – सर आप कुछ लेना पसंद करेंगे चाय या कोफ़ी कुछ ।
तो उसने कहा की मुझे एक सॉफ्ट ड्रिंक चाहिए ।
तो वैली ने कहा सर आपके सामने एक छोटा सा फ्रिज है निकाल लीजिये उसमे सॉफ्ट ड्रिंक है । आपको जो चाहिए वो मिल जायेगा । हार्वे ये सोच रहा था की फिर वैली ने बोलना शुरू कर दिया – सर आप कुछ पूछना चाहते है हमारे शहर के बारे में किसी जगह के बारे में तो मैं आपको चलते चलते बता सकता हु बाते करते करते । 

हार्वे ने पूछ ही लिया की मुझे एक बात बताओ की हमेशा जो भी इसमें बैठता है उसे इसी प्रकार से बाते करते हो , इतने अच्छे से बाते करते हो , इतना सब कुछ देते हो ।
तो वैली ने कहा – की नहीं मैं आज से पांच साल पहले ये सब नहीं कर रहा था । 5 साल पुरे हो गए मुझे खुद का कैप चलाते हुए और इस पांच सालो में मैं पिछले एक साल से करने लगा हु ।

ये जो मेरा चार साल था वो सब चीज सामान्य था लेकिन एक दिन एक रेडिओ जॉकी ने रेडियो में स्टोरी सुनाई ।
वह उस कहानी [Short Story On Discipline Is The Key To Success] को हार्वे को बताते हुए – जो बदख होते है वह हमेशा क्वेक क्वेक करती है वह शिकायत करती है और जो गिद्ध होती है वह दुनिया के ऊपर में उड़ती है । उस RJ ने बताया की यदि हमें इस दुनिया में कुछ अच्छा करना है तो दुनिया से अलग बनना होगा ।

और उस दिन उस RJ की कहानी मेरे दिमाग में इतना घर गया और मैंने उस कहानी के बारे में कई दिनों तक के सोचा और मैंने उसे करके देखा भी मेरे जो साथ कैप वाले थे मैं भी वैसे ही था और मैं भी वैसे ही था । हम लोग भी अपने जॉब से शिकायत करने लगते और हमें लगता था की हम ये क्या जॉब कर रहे है ।
लेकिन मैंने उस रेडिओ को सुनने के बाद में मैंने एक दिन सोचा की मैं कुछ ऐसा करूँगा जो शायद मुझे भी अच्छा लग जाये । और मेरे साथ में जो कस्टमर बैठा होगा उसे भी अच्छा लगेगा ।

और उस दिन के बाद में सर मैंने अपने कार में कुछ अच्छा करने की कोशिश की अपनी कैप को बदलना सुरु किया । धीरे-धीरे एक एक चीजे को जोड़कर के आज तक मैं धीरे-धीरे एक-एक फैसिलिटी जोड़ने का काम मैं कर रहा हु ।
आप बड़े लक्की है की आज मुझे आपके साथ में आने का मौका मिला क्योंकि मेरी कैप हमेशा बुक रहती है ।

एक बार जो कस्टमर मेरे पास में आ जाता है और वो मेरा नंबर ले कर के जाता है और मुझे बार बार मेरे साथ में ट्रैवल करता है । कई बार मैं बुक होता हु तो मैं अपने दोस्तों को भेज देता हु और उस पैसेंजर को कुछ भी परेशानी नहीं होने देता ।

वैली ने अपने कार से एक कार्ड निकला और कहा ये लीजिये मेरा कार्ड यदि आपको किसी भी प्रकार की परेशानी होती है तो या काम पड़ती है तो मुझे याद कार दीजिये गए ।

ये छोटी सी हिंदी स्टोरी {Motivational Story In Hindi For Success} हमें सिखाती है की दुनिया में बदख की तरह शिकायत करना बंद कीजिये । शिकायत करना बंद कर दीजिये और जिस दिन आप गिद्ध बन जायेगे और दुनिया के ऊपर में उड़ेंगे उस दिन आएगा आपको मज़ा और उस दिन को पाने के लिए आपको कुछ दुनिया से अलग काम करना होगा , दुनिया से हटकर के करना होगा।

दोस्तों ये छोटे सी हिंदी मोटिवेशनल  स्टोरी Success Motivational Story In Hindi कैसे लगी । आप ने इस मोटिवेशनल कहानी Real Success Story In Hindi से क्या सीखा ।

5 . कामयाबी के सफर में धुप भी बड़ी काम आती है [Motivational Story In Hindi For Success]

पांचवी लाइफ कहानी [Short Motivational Story In Hindi For Success]एक बार की बात है एक छोटा सा बच्चा गर्मियों के दिनों में अपने नाना नानी के घर में गया । उसे अपने नाना नानी के घर में गए हुए मात्र दो ही दिन हुए थे । वह लड़का नटखट था ।

एक दिन बातो ही बातो ने वह लड़का अपने नाना जी के साथ में बैठ कर के बाते करे रहे थे और बातो ही बातो में उसने अपने नाना जी से एक सवाल पूछा हमारे स्कूल में पढ़ते है , के महान लोग थे , वे महान लोग थे मै बहुत ये सब्दो को सुना आप इक बात बताइये की ये जो महान लोग थे जिन्होंने क्या काम किया जिनके कारन से ये महान बन गए ।

नाना जी उस छोटे से बच्चे के प्रश्न को सुनकर के कहा की बेटा आज हम बाजार जायेंगे और से बाजार हम दो छोटे-छोटे पौधे ले कर के आएंगे ।

कुछ ही घंटो में शाम हो गई हो वे दोनों बाजार गए और बाजार से दो छोटे-छोटे पौधे खरीद कर के लाये । नाना जी एक पौधा था उसको गमले में लगा दिया । और उसके पास में दूसरा पौधा को उसे बाहर लगाने के लिए कहा ।

छोटे से बच्चे ने पूछा की नाना जी क्या कर रहे है हम ।
तो नाना जी ने कहा बेटे तुम ही बताओ इस गमले वाले पौधे को घर में रहा रहे है और दूसरे वाले पौधे को बाहर लगा रहे है । दादा जी ने बच्चे को कहा अब इन दोनों पौधों में कौन सा पौधा है जो महान बनेगा ।

Motivational Story In Hindi For Success
Motivational Story In Hindi For Success

उस छोटे से बच्चे ने कहा की नाना जी जो घर के अंदर रहेगा जो घर में रहेगा उसे अच्छे से देखभाल करेंगे , उसी कोई हानि नहीं होगी , जयदा उसको धुप नहीं लगेगी वो बड़ा बनेगा ।

नाना जी ने कहा बेटा ठीक है ।
एक साल बाद वो लड़का फिर से गर्मियों के छुटियो में नाना जी के घर में आये फिर उसने वही प्रसन्न नाना जी से पूछा की महान लोग कैसे महान बन जाते है ? , क्या करते है ?
तो नाना जी ने कहा तुम्हे याद है वो दो पौधे लागए थे पिछले गर्मियों के छुट्टी में जाओ जाकर के देखो की कौन सा पौधा बड़ा बना है ।
वो छोटा बच्चा घर में गया और घर के अंदर छोटा सा पौधा गमले के अंदर अब बड़ा हो गया है । ये देख लड़का नाना जी के पास में दौड़ता हुआ गया और कहा की देखो नाना मैंने कहा था की न की जो घर में रहेगा वह बड़ा होगा ।

तो नाना जी ने कहा पहले बाहर जाकर के वो वाला पौधा देख लो जो हमने घर के बाहर लगाया था ।
लड़का दौड़ता हुआ घर के बाहर गया तो घर के बाहर में उसे कोई पौधा दिखाई नहीं दिया वंहा एक बड़ा पेड़ था । वह तुरंत अंदर आ कर के नाना जी से पूछा ये कैसे हो गया ।

तो नाना जी बेटे को प्यार से समझते हुए कहा बेटा जो घर के अंदर रहा उसे कोई परेशानी नहीं आई । और जिसकी जिंदगी में कोई परेशानी नहीं आती वह जिंदगी में बड़ा नहीं बन पाता । जो तुमने बाहर पौधा देखा है जो हमने लगाया था उसने तेज धुप भी सही , तेज बारिश भी सही , तेज गर्म हवाओ का सामना किया , अंधी तुफानो में वह खड़ा खड़ा के खड़ा रहा और आज वह एक छोटा सा पौधा पेड़ बन गया ।

आज कल इसी शार्ट स्टोरी की तरह [Inspirational Stories From The Iife Of Great Personalities] यदि आप देखेंगे की जब तक हमारी जिंदगी में चलेंगे नहीं आएगा , कोई परशानी नहीं आएगा और हम आगे नहीं बढ़ेंगे । इसलिए दोस्तों जिंदगी में आगे बढ़ाना है तो इन परेशानियों को हस कर के सामना करए और आज उनका दिन है तो कल आपको भी दिन आएगा ।

6 . सक्सेस का शॉर्टकट [ Motivational Story In Hindi For Success]

छटवी हिंदी स्टोरी [Positive Thinking Motivational Story In Hindi For Success] एक बार की बात है एक छोटे से गांव में बहुत सारे बन्दर रहते थे जो गांव के उपद्रो मचा , घरो को घुस जाते थे इनसे उन सभी गांव वालो को बहुत ही ज्यादा परेशानी होती थी और उन सभी लोग परशान हो जाते थे ।

एक दिन की बात है उसके गांव एक व्यक्ति आया । उसने सभी को गांव में एक मंच के सामने इकट्ठा किया और उनको एक स्किम बताने लगे . गांव वालो को बताया की यदि कोई उसके गांव में जितने भी बन्दर ही उसको पकड़ के लाएंगे तो उन्हें प्रत्येक बन्दर का 500 रुपया दिया जायेगा ।

गांव वाले अपने घरो में खेती बाड़ी के काम में लगे हुए थे वो सभी इस नै स्किम के बारे में पता चला तो अपने काम को छोड़कर के बन्दर पकड़ने के काम में लग गए ।

गांव वाले रोज जाते कोई 10 बंदर लेता तो कोई 15 बन्दर पकड़ कर के लाते , तो कोई 3 पकड़ लेता कुल मिलकर के उनका ये बिजनेश चल निकला । लोग जो भी बन्दर पकड़ के लेता उन्हें वह 500 रूपये दे देता । और सारे बंदरो को एक बड़े से पिंजड़े में बंद कर लेता

गांव वालो ने कभी पूछने की कोशिस नहीं की आप इन बंदरो का करोगे क्या ।
उसके बाद में हुआ ये की गांव में धीरे धीरे बन्दर की संख्या कम हो गई और उसके बाद में गांव वाले भी अब बन्दर पकड़ना बंद कर रहे है , और कुछ लोग तो ऐसे भी तो जो बन्दर पकड़ने के काम करते थे तो उसने अब खेती के काम शुरू कर दिया ।

अब जो वह वयक्ति आया हुआ था वह भी परेशान हो गया ।

कुछ दिन तक ऐसा ही चलता रहा । अब उस व्यक्ति ने एक नै स्किम दी अब की बार आप बन्दर पकड़कर के लाएंगे तो आपको 1000 रूपये दिए जायेंगे ।

अब हुआ यु की गांव वाले अब गांव के बाहर जाने लगे बन्दर पकड़ कर के लाने लगे और कुछ गांव वाले तो बन्दर पकड़ने के काम छोड़ चुके और कुछ ही गांव वाले अभी भी बन्दर पकड़ने के काम कर रहे थे । जो काम में लगे हुए थे वे बन्दर पकड़कर के लाते रहे लाते रहे , उनको बन्दर के बदले में 1 हजार मिलते रहे .

और कुछ ही दिनों में आसपास के सभी गावो में उन्होंने सभी बन्दर को पकड़कर रख लिया .

अब उस व्यक्ति ने फिर से कहा की अब आपको और बन्दर पकड़कर के लाना अब की बार मै आपको 1500 सौ रुपया दूंगा .

ये सुनकर के गांव के लोगो ने एक जगह रात में मीटिंग राखी और निर्णय लिया की ये व्यक्ति पैसे बढ़ाते जा रहा है और आसपास में तो बन्दर है ही नहीं  . हम कान्हा से बन्दर लाएंगे । हम अपनी जान को डालकर के जंगलो में थोडना जाएँगे । ये कहने के बाद में गांव के मुखिया ने कहा की अब इस काम को छोड़ देते है और हम सभी खेती बाड़ी करेंगे और जो काम हम पहले से कर रहे थे उसी में हमें पैसा मिलेगा .

अब इस बन्दे के लिए चिंता की बात हो गई की गांव वाले तो बन्दर पकड़ने के काम बंद कर चुके है ये सोचकर के वह व्यक्ति कुछ समय के लिए गांव से शहर चला गया ।

गांव वाले जो थे वे अपने अपने खेती बाड़ी के काम में लग गए और अपने अपने अपने काम करने लगे । एक दिन फिर से वह गांव में आया और अपने साथ में एक और व्यक्ति को साथ में लेकर के आया और गांव में आकर के फिर से इकट्ठा किया और लोगो को इक्कठा कर के कहा की अब की बार एक नई स्किलम ले कर के आया हुए ।
अब की बार आप सभी एक भी बन्दर पकड़ के लाएंगे तो आपको 2 गुना यानि 3 हजार रूपये देंगे एक बन्दर के ।
गांव वालो ने इसके बात को सुनकर के तो पहले मज़ाक समझा और कहा की ये व्यक्ति पागल हो गया है और हमें बेवकूफ बना रहा है अपन अपनी खेती बाड़ी करो और अपने आप में मस्त रहो ।

गांव में मुखिया में ने समझाया लेकिन कुछ वालो ने मुखिया के बातो को काटते हुए नहीं कुछ तो बात होगी की 3 हजार रूपये कह रहा है कोई न कोई बात जरूर होगी ।

वो जो नया आय हुआ था वो चला गया । उसके बाद में इस पहले वाले व्यक्ति ने गांव वालो को रात में मीटिंग की और गांव वालो से कहा की हमारे साहब तो चले गए है और अब गांव में बन्दर है नहीं मुझे भी पता है आसपास के गांव में भी नहीं हमें भी पता है । और अब एक काम करते है अब एक ही चारा है जो हमारे पास में पिजड़े में बन्दर है उनको आप 15 सौ रूपये में खरीद लो उसके बदले में खरीद लो और हम आपको हजार रूपये देंगे ।

गांव वालो इस बात को सुनकर के रात भर मीटिंग करि , सभी लोगो ने सोचा , क्या किया जाये , क्या हम इस चक्कर में पड़े और कुछ गांव वालो ने कहा की नई नई अब की बार हम विस्वास कर लेते है ।

इसके बाद में सभी गांव वालो ने सभी अपने खेती बाड़ी के पैसे जिनको वह जमा कर के कमा के रखे हुए थे उनको इस व्यक्ति को दे दिया ।

सभी बदरो को पिजड़े से निकले और सभी गांव वालो को इन्होने 1 हजार रूपये दे दिए और वो व्यक्ति रातो रातो गांव से शहर हो गया ।

अब इस गांव में बन्दर ही बन्दर है और कुछ लोग भी जिनके पास में पैसा नहीं है । 

Motivational Story In Hindi For Success
Motivational Story In Hindi For Success

ये छोटी सी लाइफ चेंजिंग स्टोरी  Short Story On Discipline Is The Key To Success हमें बहुत कुछ सिखाती है की कभी भी जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए , सफलताएं पाने के लिए हमें कैसे भी , कंही भी , किसी भी परिस्थि में हो हमें मेहनत करना ही होगा और मेहनत को छोड़कर के जिंदगी में कोई और सरल काम नहीं हो सकता .

और हममे से कई सारे लोग स्किम के चक्कर में , नए नए स्किम के चक्कर में अपने करियर को बर्बाद कर लेते है ।

दोस्तों ये छोटे सी हिंदी मोटिवेशनल स्टोरी Success Motivational Story In Hindi कैसे लगी । आप ने इस मोटिवेशनल कहानी Real Success Story In Hindi से क्या सीखा ।

7 . खूबसूरती से नहीं क़ाबिलियत से चमकते हैं [Motivational Story In Hindi For Success]

दोस्तों विनर स्टोरी Law Of Attraction Success Stories In Hindi एक गांव के लड़के की है जो अभी अभी पढ़ाई करके ख़त्म किया हुआ था । और वह लड़का एक गांव का लड़का था , पिता जी किसान था । लड़का बड़ा ही मेहनती और ईमानदार था ।

वह कुछ ही दिन पहले जॉब के अप्लाई  किया था और आज उसका इंटरव्यू था और वो लड़का गांव से शहर में जॉब के इंटरविव देने के लिए पहुँचा हुआ था ।

कुछ मिनट तक बैठे रहने के बाद में इंटरव्यू शुरू हुआ । और उसकी पारी आई उस लड़के की लड़के को बहुत सारे सवाल किया गया । जो इंटरविव ले  रहे थे उन्होंने पूछा की आपके पापा क्या करते है ?

तो लड़के ने बताया की मेरे पापा एक किसान है और किसानी का काम करते है । तो इंटरव्यू लेने वाले ने पूछा की क्या आपने उनके साथ में कभी भी में काम किया है ? , क्या आपको फसलों की जानकारी है ? , क्या उनकी मदद की और क्या आपने सोचा की पापा की मदद की जाय ।
लड़के ने बोला सोचा तो था लेकिन शायद पापा चाहते है नहीं है । वो चाहते है की मेरा सारा ध्यान मेरे पढ़ाई में रहे तो उन्होंने मुझे ज्यादा खेत में जाने नहीं दिया और ना ही मुझे कभी खेत के बारे में जानने दिया ।

तो इंटरविव लेने वाले ने कहा की आज आप घर जाइये और घर जाने के बाद में अपने पापा के हाथ पैर देखना और कल देखकर के फिर से इंटरविव देने के लिए आ जाना ।

लड़का इंटरविव दिला कर के रूम से बाहर निकला और सोचने लगा की कल मुझे बुलाया है तो मेरा सलेक्शन पक्का हो गया । ये सोचकर के लड़का एक मिठाई का डिब्बा लेकर के शहर से बड़े ख़ुशी के साथ में गांव पहुंच गया ।

घर में सभी को जाकर के बड़े खुसी के साथ में मिठाई बाटे और अभूत ही खुश थे जब शाम हुआ तो अपने पिता जी के पास में गया और कहा पिता जी मुझे कल बुलाया है इसका मतलब ये की कल मेरा सलेक्शन हो गया है ।

लड़का को अचानक से उनके मन में ख्याल आया और का की कल उन्होंने मुझे एक काम दिया था की अपने पापा के हाथ पैर देखकर के आना । तो लड़के ने कहा की मुझे हाथ पैर देखने है ।

लड़के के पिता को पता था की उनके हाथ पैर का क्या हालत है लकड़े को दिखने के लिए छुपा रहे थे फिर लड़के ने जिद की और अंत में लड़के के जिद के आगे रह न सका ।

और अपने हाथ पैर को दिखाय । पिता जी के पैर कटे फटे थे काम करने के वजह से जगह लकीरो के निशान था और काम की वजह से बड़े शख्त हो गए थे ।

लड़के ने अपने पिता के हाथ को देखा तो उनके आँख से आँशु आ गए । तब उसे महशुश हुआ की उनके पिता जी ने उसे कितनी मेहनत कर के यंहा तक पहुंचाया है ।

उसकी बात पहली बार लड़का ने अपनी पिता जी से देर रात तक अपनी तक बाते की जो इसके पहले तक अभी एक साथ बैठकर के बाते नहीं की थी ।

और अगले दिन वो फिर से पहुंचे इंटरविव देने के लिए फिर इंटरविव देने वाले ने पूछा की क्या आपने अपन पिता जी से बात की , पिता जी के हाथ पैर देखे । उसने कहा ये देखकर के क्या महशुश हुआ कल उनके हाथ पैर को देखकर के ।

तो लड़के ने बताया की कल मुझे रिश्ते की अहमियत समझ में आई । मुझे कल महशुश हुआ की कितना कुछ सहना पड़ता है अपने रिस्तो को आगे बढ़ाने के लिए ।

तो धोड़ी देर बात इंटरविव देने वाले ने कहा की मुझे तो यही गन तो चाहिए मेरे जॉब के लिए अब तुम शायद सही रस्ते में आ गए और तुम्हारी सोच सही हो गई है ।

और छोट सी कहानी Short Story On Discipline Is The Key To Success जिंदगी में बहुत बड़ी बात सिखाती है की जिंदगी में अच्छे माता पिता , परिवार , रिस्तेदार का होना बहुत जरुरी है क्योंकि कहा भी गया की जैसे जैसे घर होता है वैसे वैसे घर के दरवाजे होते है और जैसे जैसे माता पिता , परिवार होते वैसे वैसे बच्चे होते है । तो ऐसे परिवार को हमें नहीं छोड़ना चाहिए ।

 


Top 5+समय की कीमत कहानी Samay Ka Sadupyog Kahani

1+ छत्तीसगढ़ी लोक कथा || chhattisgarhi lok katha


 

Leave a Reply