You are currently viewing Top 3 BEST Physics wallah motivation -आपकी सुपर पावर
Physics wallah motivation

Top 3 BEST Physics wallah motivation -आपकी सुपर पावर

ANDHERE से मत डरो क्योंकि सितारे अँधेरे में ही चमकते है । हेलो  दोस्तों स्वागत है आप सभी का हमरे ब्लॉग पोस्ट में दोस्तों आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको कुछ मोटिवेशनल स्टोरी बताने वाले है जो ऐसे वैसे मोटिवेशनल स्टोरी नहीं दोस्तों ये मोटिवेशनल स्टोरी है Alakh Pandey सर की जिन्हे आज लोग NEET के एग्जाम कारक कराने वाले सर के नाम से जाने जाते है । 

जिम्हे फिज़िक्स में महारत हासिल है , जो चाँद पलकों में ही आपको ब्रम्हांड के कोने से निकालकर के आइस्टीन के सूत्रों को जोड़ते हुए sine or cos को पिरोते हुए आपको फिज़िक्स के साथ ही NEET के सफलता के दरसन कराते है । ऐसे sir Alakh Pandey  की कुछ motivational Story जिन्हे लोग आज Physics wallah motivation , Physics motivation , Neet motivation physics वल्लाह,  Physics wallah motivation lakshya batch और न जाने कई नाम से आज स्टूडेंट पुकारते है । 

Physics wallah motivation

|| यंहा पैसा नहीं यंहा बच्चो का प्यार चलता है ||

|| जिंदगी में 2 चीजों में कभी भरोषा नहीं करना चाहिए
लड़को के इम्प्रेसन वाली टिप्स पे
लड़की के स्माइल वाले पिक्स पे ||

|| जिस किसी ने भी बेइज्जत किया है , जिस किसी ने धोका दिया है ,
जिस किसी ने हाथ छोड़ा , जिस किसी ने इग्नोर किया
उससे बदला लेंगे
खुद से वादा करलो आज , जिसने हमारे मैसेज को unseen किया
वो हमारे Whatsaap DP देखने तक को तराश जायेंगे
वापस मिलने वे जरूर आएंगे
तब हमसे नहीं हमारे पिय से टाइम लेकर के जायेंगे ||

|| और शीशे के सामने हर रोज बोलना
देखले भाई जो सपने में वो हकीकत में होगा
जो अपनी औकात में नहीं है
वो अपनी जेब में होगा ||

|| की कुछ देर की ख़ामोशी है शोर आएगा
आपका तो पूरा वक्त आया है हमारा तो दौर आएगा ||

|| जब सो रहे होंगे सब लोग तब भी तुम्हे जाग कर पढ़ना ही होगा
बढ़ा सपना तुम ही देखा है इसे तुझे ही पूरा करना होगा ||

|| जीवन में यदि संतुस्ट रहना है , खुश रहना है तो
जो भी तुम्हे जिंदगी में हासिल हुआ है
उसे पसंद करना सिख लो
और तुम्हे दुनिया में आग लगानी है न
उसे हासिल करना सिख लो ||

तो दोस्तों बिना किसी देरी के फिज़िक्स वल्लाह मोटिवेशन को शुरू करते है :-


Rj Kartik Story In English (Story No 1)

Rj Kartik Quotes || Rj Kartik Best Quotes

BEST TOP 5 RJ Kartik Story Lyrics In Hindi


आपकी सुपर पावर -Physics Wallah Motivation 

ये कहानी Neet motivation physics wallah है दो दोस्तों की । जो बहुत कम समय यानि की अभी-अभी मिले थे । मतलब ये की दोनों हॉस्पिटल में अभी-अभी आये थे । जंहा पर वो दोनों भर्ती हुए थे । दोनों में से जो एक था लकवा यानि की पैरालिसिस का अट्रैक हुआ था जिसके कारण से गर्दन के नीचे की पूरा शरीर पूरा लकवा ग्रस्त हो गया था और वो अपना एक ऊँगली तक नहीं उठा सकता था .

पुरे दिन वो एक ही बात करता की जब भी कोई नर्स उसकी पास जाता तो वो उस नर्स से एक ही बात कहता यदि कोई ऐसा इंजेक्शन दे तो की जिससे मै मर जाऊ , मै और जीना चाहता , ऐसी जिंदगी का मै क्या करू । बहुत ही परेशान , उदास और होकर के अपने आप को कोसने लगता ।

उनका जो वो दोस्त जो अभी-अभी एडमिट हुआ था और वह भी उसी कमरे में । वह जो अभी अभी एडमिट हुआ था वो चल फिर सकता था । तो उस कमरे में एक खिड़की था । उसके दोस्त जो चल फिर सकता था ।

वो रोज शुबह और शाम को उस खिड़की के सामने में जाकर के खड़ा हो जाता और अपने दोस्तों को बताता कि  उस खिड़की के पास क्या हो रहा है ।

वो बताता है कि नीला आसमान है , पूरा आकाश नीला दिखाई दे रहा है , बिलकुल हल्के हल्के हवा चल रही है , पेड़ो के पत्ते हरा भरा है , कुछ चिड़िया उड़ रही जो बहुत ही ज्यादा खुबशुरत दिखाई दे रहा है , एक बहुत ही सुन्दर बीच है जंहा पर बच्चे मिटटी कि खरौंदे बना रहे है , कुछ लोग है जो समुद्र को देख रहे है , कुछ लोग जॉगिंग कर रहे , कुछ लोग एक्सेरसीज़े कर रहा है कोई पतंग उठा रहा है ।

वंहा पर आइसक्रीम का स्टाल है जंहा पर कुछ लोग आकर के आइसक्रीम खा रहे है और शाम के समय तो सूरज कि रौशनी से पूरा समुद्र गोल्ड रूप में दिखाई देने लगता है ।

शुरू में जब उसके दोस्त ने उसे बताना शुरू किया तो उसके दोस्त पर ज्यादा असर तो नहीं हुआ लेकिन उसके अंदर जीने कि chah जागने लगी ।

अब वो रोज शाम होते ही शुबह होने का इंतिजार करके लगता कि जैसे ही शुबह हो मेरे दोस्त ये बातये कि आज यंहा पर क्या हो रहा है ?

कुछ दिन तक तो ये सब चलता रहा वो रोज शुबह उठता और अपने दोस्त को सारी बातें बताता रहा ।

एक दिन जब शुबह उठा तो देखा कि उसके साइड वाला बेड खाली था , उस बेड में कोई नहीं था उसे मन ही मन बहुत ही विचलित था और उदाश भी कि उसे कोई बताने वाला नहीं था ।

तो उसने नर्स को बुला और उस पूछा कि उस बेड वाला व्यक्ति क्या डिस्चार्ज हो गया ?

तो नर्स ने कहा – उसने तो आपको बताया होगा । उसके आगे कहती है उसके पास तो कुछ ही दिन था और उसकी डेथ हो गई ।

ये सुनकर के उसकी उम्मीद पूरी तरह से टूट गई एक वही था जो उसे बाहरी दुनिया कि जानकारी देता था , उसकी वजह से वह जान पाता था कि बहार क्या हो रहा है और ये दुनिया कितना खुबशुरत है ।

ये सुनकर कि उसका डेथ हो गया वो बहुत ही ज्यादा दुखी हो गया और कुछ दिनों तक तो वो रोता रहा , उदास रहा और उसने जीने कि चाह छोड़ दी ।

दूसरी तरफ से उसके अंदर एक नई चाह पैदा हो गई कि काश मेरे मरने से पहले आखो से दुखु इस खिड़की के बाहर ये दुनिया कैसी है ।

जैसी-जैसी उसकी चाह बढ़ने लगी उसकी अंदर एक ऐसा एनर्जी होने लगी । जैसे जैसे दिन बढ़ाता गए उसकी देखने कि चाह बढ़ती गई और एक दिन उसने बहुत ही ज्यादा एनर्जी के साथ में किसी भी तरीके से बेड से गिर गया और कैसे भी करके उसके गिरते हुए , पकड़ते हुई उस खिड़की के पास में पंहुचा .

और उसके बाद में खिड़की को पकड़कर के खड़ा हुआ और फिर खिड़की के बाहर देख लिया लेकिन वो खिड़की के बाहर देखते ही वो गुस्से से भर गया ।

जैसे ही उसने खिड़की को देखा उसने जोर से गुस्से से नर्स को जोर से आवाज लगाया । नर्से जैसे ही आई उसने नर्से से पूछा ये तुमने ये क्या किया , ये खिड़की के बाहर ये काळा रंग से दिवार क्यों खडी कर दी ?

तो नर्स ने कुछ समझ नहीं आया उसने कहा मै यंहा पिछले पांच साल से इस हॉस्पिटल में काम कर रही हु जब से मै यंहा पर काम कर रहा तब से ये काली दिवार ही है ।

तब उसे समझ में आया कि उसको वो दोस्त उसे झूठ बोल रहा था और उसने नर्स से पूछा कि ये काली दीवार पिछले से इस हॉस्पिटल में है तो मेरे दोस्त में मुझे झूठ क्यों बोला ।

तो नर्स मुस्कुराई और बोली – मै ये तो नहीं जनता कि उसने झूठ क्यों कहा ?

मै बस इतना जानती हु कि उसने जो कुछ भी कहा उसकी वजह से आप अपने पैरो पर खड़ा है ।

दोस्तों इस Neet motivation physics wallah से हमें यह सिख मिलता है जो हमारे शब्द है , हमारे बोल है , जो हम अपने मुख से बोलते है उसकी इतनी पवार है कि हद नहीं । हमारे बोले गए सब्द किसी को गिरा भी सकते है और उठा भी सकते है । तो आपके ऊपर है कि आपके अंदर कि पवार को आप यूज़ करते हो या मिसयूज करते हो । उपयोग करते हो या उनुपयोग करते हो ।


Best Acchi Aur Sacchi Baatein || अच्छी और सच्ची बातें

सच्ची और अनमोल बातें । मन को शांति देने वाली बातें

TOP 5 BEST PRERNA Motivation | अनमोल बातों का गुलदस्ता

Subah Ke Vichar | आत्मा को तृप्त कर देगी यह BEST 51 बातें


2 . कोशिश करने से सब होता है – Physics Wallah Motivation

Physics wallah motivation
Physics wallah motivation

ये कहानी Physics wallah motivation एक लड़की है । जो स्कूल में पढ़ती थी । वो पढ़ने में बहुत ही ज्यादा कमजोर थी साथ ही वह बहुत ही आलसी भी थी । कई बार तो वह स्कूल में सो जाती थी । कभी कभी तो क्लास चलते चलते उनकी नींद लग जाती थी और कई बार तो ऐसा होता था की वह पढ़ाई करते-करते उसकी आँख खुली रहती लेकिन उसकी ध्यान कंही और रहता .

जब वो स्कूल से जाती थी वंहा भी जब भी पढ़ने बैठती थी तो पांच मिनट में उसे नींद आना शुरू हो जाती थी तो वह पढ़ नहीं पाती थी । बहुत ही कमजोर थी । टेस्ट पेपर के दिन जब सभी का टेस्ट पेपर लिखने का आधा हो जाता तो प्रश्नो को समझने में लग जाती और आधा घंटा समय के पहले लिखना शुरू करती ।

और कुछ दिन तो ऐसा होता था की एग्जाम हाल में उसकी आँख लगने वाली होती थी और कभी-कभी तो उसे नींद भी आ जाती थी ।

वह जब भी पढ़ाई करने के लिए बैठती थी तो उसे आलस जल्दी आ जाती थी और वह आलस से शो जाती थी । जब भी वह स्कूल में जाती थी तो वह वंहा भी बहुत ज्यादा सोती थी । और रोज उसे किसी न किसी टीचर की पनिसमेंट , डाट मिलती थी ।

शुरुआत में तो कम सोती थी लेकिन जैसे जैसे समय बीतता गया लड़की को बहुत जी ज्यादा आलस आने लगी थी वह सोने लगी थी । उसका पढ़ाई में इंटरस्ट कम हो गया था ।

उनके दोस्त उसे तरह-तरह ने नाम से पुकारने लगे थे , और उनके साथ में बहुत हंसी मजाज़ करती थी , वो ये सब चुप-चाप सुनती थी । किसी को कुछ भी नहीं बोलती थी ।

ये उनका डेली का रूटीन बन गया था कोई भी टीचर आती उसे डांटकर के चली जाती , उनके दोस्त भी उन्हें परेशां करते थे तो लड़की बहुत परेशान रहती थी ।

एक दिन की बात है जब उनके प्रिंसिपल उस क्लास में देखने के लिए गई तो सभी बच्चे उसके आने पर खड़ी हो गई लेकिन वो लड़की खड़ी नहीं हो पाई । वो लड़की देख जरूर रही थी लेकिन उसका ध्यान नहीं था उस समय वो लड़की जगती हुई नीड में थी ।

उस दिन उस लड़की बहुत डांटा गया , उसे उस सभी स्टूडेंट में क्लास के सामने बुलाया गया उसके सामने उसे डांटा गया , फटकारा गया ।

वो लड़की चुप शांत सर को नीचे किय हुई उसके डांट को सुन रही थी ।

उसे डाटने के बाद में प्रिंसिपल वंहा से चला गया । उसके बाद उसके साथ बहुत बुरा हुआ । वह अंदर से बहुत गुस्सा हो गई , उनके  चेहरे गुस्से से लाल हो गया , उनका गुस्सा आग बबूला हो गया । उस दिन उसने अहसास हो गया की आज के बाद वही भी सोयेगी नहीं , आज के बाद वह कभी आलस नहीं करेगी , सोयेगी नहीं , सिर्फ पढ़ाई और पढ़ाई करेगी । 

क्या आपको पता है वो गुस्सा क्यों कर रही  , कौन थे जो उन्हें गुस्सा दिला रहा था ?

तो उस क्लास के बच्चे थे जो उन्हें तरह तरह के नाम तुम लूसर हो , तुम डोंकी हो , तुम बहुत पीछे हो , तुम मंकी हो , तुम से दोस्ती नहीं करनी है , तुम्हारी शक्ल चूहे के सामान है । 

क्लास ने चारो तरफ लड़की को चिड़ा रहा था । इसके पहले तक उसे इतना नहीं चिढ़ाया गया था जितना की आज चिढ़ाया गया था .

उस दिन लड़की जब घर में गई तो बहुत ही ज्यादा रोने लगी और उसके बाद में उसने डिसाइड किया की उसे अब क्या करना है । उसने कुछ समय तो बैठ कर सोचा की आज की बाद वो कभी नहीं सोयेगी , कभी उदाश नहीं होगी , आलस नहीं करेगी । सिर्फ पढ़ाई करेगी ।

उसने तुरंत उस जगह से उठा और पटापट अपने इधर उधर बिखर सामने को , पुस्तकों को एकत्रित किया । एक काफी की से एक पन्ना निकली और उसने एक नया समय बनाया .

और खाना खाने के बाद में पढ़ने के लिए बैठी जैसे ही वो पढ़ने की लिए बैठी उसके 10 मिनट बाद उसे नींद आना शुरू हो गया क्योंकि लड़की बहुत ही ज्यादा आलसी थी ।

जैसे ही उसकी आँखl लगने , पलक छपकने लगी अचानक से उनकी गाल में एक चमटा लगा लड़की फिर लड़की थोड़े देर के लिए फिर नींद भाग गई । 30 मिनट तक पढ़ाई करने के बाद में लड़की को फिर से नींद आना हुरु हुआ फिर उसके गाल में जोर का चमटा , थप्पड़ लगा । 

फिर उसकी आलस भागी और कुछ देर पढ़ने के बाद में फिर उसे नींद आना शुरू हुआ फिर उसके गाल में चमाट लगा फिर वो वो आधा घंटा तक पढ़ी और ऐसे करते करते लड़की लड़की उस दिन रात के 10 बजे तक पहली बार पढ़ाई की ।

इसके पहले तक लड़की सिर्फ पांच मिनट तक ही पढ़ाई कर पाती थी ।

दोस्तों आप सोच रहे होंगे की उसे चमाट किसने लगाया होगा तो उसे जब भी नींद आती थी तो अपने दूसरे हाथ से अपने आप की जोर से चमाट लगाती थी ।

दूसरे दिन जब वो स्कूल में गई तो उसे क्लास में बैठ बैठ भी नींद आना शुरू गई तो उसने अपने सर को टेबल के नीचे ले जाकर के जोर से चमाट लगाती उसके बाद कुछ समय के लिए उसकी नींद , आलस बंद हो जाती ।

और जब भी उन्हें नींद आती वह अपने सर को टेबल के निचे करती और जोर से गाल में चमाट लगाती ऐसे करते करते स्कूल में  उसने बिना आलस के , बिना सोये पहली दिन रही ।

इसके बाद में लड़की रोज स्कूल से घर आती और पढ़ाई करने के लिए बैठती जब भी उसे नींद आती अपने गाल को चमाट लगा लेती लेकिन ये आइडिया भी ज्यादा दिनों तक नहीं चल पाई और उसे कुछ दिन बाद ही नींद लगाना शुरू हो गई ।

उसके बाद उन्होंने दूसरी तक़रीब अपनानी शुरू कर दी । अब उसे जा भी नींद लगती अपने गलो के चमाट के आलावा , अपने नाक को जोर से मारती , जब वह अपनी नाक जो जोर से मारती तो नाक से खून निकलने लगती ।

उसके बाद ऐसे करते करते वह रात के 10 बजे से 11 बजे तक कर पाती थी ।

जब वह स्कूल में जाती थी तो वंहा भी वही वही आइडिया अपनाती लेकिन वंहा वह सिर्फ गालो में चमाट लगा के अपने आलस को दूर करती ।

कुछ दिन बीतने के बाद में उसका ये दूसरा पैतरा भी काम करना बंद कर देती है और उसे पढ़ाई के दौरान नींद आना शुरू हो जाती है । अब की बार वो लड़की जब भी उसे नींद आती थी तो वो जोर से पेन को अपने बाये हाथ में दे मारती थी ।

और जब पेन की नोक उसकी हाथ में जाती थी और उसके मुँह से आह !

की आवाज निकलती और उसके दोनों हाथो से आंसू निकलने लगती , दर्द से कहराने लगती लेकिन वह अपनी दर्द को भूलकर के फिर से पढ़ाई करने लगती ।

कुछ समय बीतने के बाद में उसका ये समय 10 बजे से बढ़कर के रात के 1 बजे तक पढ़ाई करती थी और उसे जब भी नींद आती थी वो पेन से बांय हाथ को जोर से दे मारती थी उसके बाद में उस दर्द को भूलकर के पढ़ाई करती ।

धीरे धीरे उसकी पढ़ाई में मार्क्स अच्छे आने शुरू हो गई , और अब वह क्लास में नहीं सोती थी , आलस उससे दूर चली गई थी लेकिन उसके हाथ में पेन की टीप का गहरा निशान बन गया था । जब भी वह स्कूल जाती तो उसके बाये हाथ में बेंडेड लगी रहती थी ।

ऐसे करके उस लड़की ने पढ़ाई की और साल के अंत में होने वाले होने वाले एग्जाम को क्लीअर करती है ।

कुछ समय बात कोई लड़की दौड़ी दौड़ी आती है , उसकी हाथ में मोबाइल थी , थकी हुई , जोर से आवाज लगाती है , अरे कान्हा है ?

लड़की आती है , दूसरी लड़की जो अभी दौड़कर आ रही , फूल ना समाती है और देख देख तू frist आ गई है पुरे क्लास में कोई नहीं सबसे आगे तेरा ही रोल नंबर है । और उस इस बार लड़की ने पुरे जिले में टॉप करि रही है ।

दोस्तों ये छोटी सी कहानी में लड़की हमें सीखा जाती है की यदि वह लड़की उस दिन हार मान जाती , अपने आप को पीछे कर लेती और मन में ठान लेती की यदि मै नहीं सकती तो आज वो लड़की सफल नहीं हो पाती ।

लेकिन दोस्तों उसने हार नहीं मानी और अपने आप को मजबूत करके एक बार फिर कोशिश की और वो अपने कोशिश से पीछे नहीं हटी और वो सफल है ।

वैसे ही हमारे साथ भी होता है कई बार हम कोई काम सोचते जरूर है लेकिन एक बार कोशिश करके नहीं देखते और हार मान जाते है । यदि हम जिंदगी में कोशिश करके तभी तो जिंदगी में आगे बढ़ेंगे । कोशिश करने वालो की कभी हार नहीं होती ।


The Truth Of Life – BUDDHA STORY | Rare stories of Buddha

Rare Stories Of Buddha PART – 2 | How To Reach Your Goal


3 . Never  Give Up  – Physics wallah motivation lakshya batch

ये कहानी Physics motivation एक एथलीट की है . जो खेल के मैदान में दौड़ने के उतरने वाला था . चारो तरफ मैदान में हजारो की संख्या में लोग 400 मीटर की रेस को देखने के लिए आये हुए थे । बड़े-बड़े कैमरे के साथ इस मैच का सीधा प्रसारण हो रहा था लोग इसे टीवी में भी देख रहे थे ।

चारो तरफ लोगो की आवाज सुनाई दे रहे थे। ये रेस उनका निर्णायक रेस था जो उसे इस रेस से उसकी किस्मत बदलने वाली थी । लोग निगाहे लगाकर के उस रेस को बड़े ध्यान से देख रहे थे ।

कुछ समय बाद सभी खिलाडी के आने के बाद में रेस शुरू हुई । रेस में सिर्फ 8 खिलाडी थे जैसे ही रेस की घंटी सुनाई दी सभी लोग दौड़ने शुरू कर दिए ।

रेस शुरू होते ही सब धड़कन धड़कने लगा पूरा मैच और मैदान में सन्नाटा सा गया , कोई शोरगुल नहीं , सब की नजर अपने अपने चाहने वाले खिलाडी को देखने लगे . सभी लोग इस मैच को बड़े ध्यान लगाकर के देख रहे थे ।

मैच के कुछ सेकण्ड 17 सेकंड के बाद 150 मीटर पूरा करने के बाद इस खिलाडी जिसकी हम बात कर रहे उसके पैर में दर्द शुरू होता है । इतना दर्द की वो दौड़ नहीं सकता ।

सेकंड में ही सभी खिलाडी उसे इग्नोर करते हुए उससे दूर चले गए बांकी सभी खिलाडी उनसे आगे हो गए वो अपने दर्द से कराहते हुए वही बैठ गया .

सभी खिलाडी की नजर उसकी तरफ देखने लगा अब तो मैदान का suspence और बढ़ गया सब की नजर इस खिलाडी की तरफ था . सभी लोग इसे देखने लगे थे , टीवी में लाइव चल रहा था .

सभी सोच रहे थे की क्या हुआ ?

कुछ समय बढ़ वंहा कुछ लोग आये उसकी मदद करने के लिए और उसे रेस को रोकने के लिए क्योंकि वह ढूढ नहीं सकता था लेकिन वह दृड संकल्प था उसने रेस को पूरा करने की ठाना था । तो उसने किसी का न सुना और 

खड़े होकर के अपने एक पैर को हाथ में पकडे , लंगड़ाते हुए धीरे-धीरे कोशिश करि और दौड़ने लगा ।

कुछ ही क्षण में रेस पूरा भी हो गया उसमे विजेता भी हो गए लेकिन कोई तालिया नहीं गुंजी सभी लोग इस व्यक्ति की तरफ देखने लगे थे ।

इसके कुछ सेकंड में जब वह दौड़ रहा था दूसरा कर्मचारी आया उसे रोकने के लिए लेकिन वह रुका नहीं दौड़ता ही रहा ।

उसके बाद में उसके पिता जी आया और उसे कंधो से सहारा दिया उसे दौड़ने लगा . जैसे ही उसके पिता जी आये वह जोर से रोने लगा फिर भी उसके पिता जी उसे कंधो में सहारा देकर के मैदान में दौड़ पूरा करवा रहा था । 

मैदान में सभी लो भाउक होकर के देख रहे थे । 

कुछ समय बाद उसके पिता जी उसे पुरे 400 मीटर का रेस पूरा कराया और जैसे ही वह 400 मीटर का रेस पूरा किया वैसे ही पुरे 65,000 दर्शको ने खड़े होकर दे तालिया bajai . भले ही वह इस मैच जो जीत न सका लेकिन haar नहीं मानी और अंत तक उस मैच को पूरा किया .  

ये Physics wallah motivation lakshya batch हमें सिखाती है हमें जिंदगी में कभी भी हार नहीं मानना चाहिए क्योंकि जिंदगी में हार और जित तो लगा रहता है । आज हार हुआ है कल जरूर जीतेंगे .

Physics motivation।। Physics wallah motivation।। Physics wallah motivation Quotes ।। Neet motivation physics wallah।। Alakh Pandey।।


Best 5 example How To Stop Negative Overthinking

Best 2 Example How To Increase Your Memory Power

TOP 5 Narrative Essay On Life Changing Event

Leave a Reply