You are currently viewing Success Businessman Story In Hindi सड़क से करोडो तक
Success BusinessMan Story In Hindi

Success Businessman Story In Hindi सड़क से करोडो तक

दोस्तों आज हम आपको एक ऐसी business motivational story in Hindi में आपको एक ऐसी महिला के बारे में बताने है है जो कभी सड़क के किनारो में अचार बेचा करती थी , जिनके पास में पहली बिज़नेस ने असलफता के बाद में करोडो की कंपनी खड़ा करने वाली महिला  श्रीमति Krishna Yadav के बारे में जो आज सफल इंटरप्रन्योर है  तो चलिए दोस्तों Krishna Yadav success businessman story in Hindi को जानते है :-

परिचय  Krishna Yadav की :-

success businesman story in hindi
Mi – Yrisha Yadav

श्री मति Krishna Yadav बुलंदशहर यूपी की रहने वाली है । जैसे की उन्हें पति पहले प्राइवेट नौकरी करते थे और जब करते हुए खुद का बिज़नस भी शुरू किया । की दोनों को एक साथ किया जाय । तो उसके पति का नौकरी करते हुए बिज़नेस में सफल नहीं हो पाया और बिज़नेस में इतना घाटा हुआ की उन्हें इस बिज़नेस की घाटा से उनकी घर पूरा बिक गया , इस बिज़नेस से इतना नुकसान हो गए थे बहोत ज्यादा का कर्ज भी हो गया था ।

स्ट्रगल की शुरुआत 

तो घर बिकने के बाद में सीधे रोड में आ गए थे । और इस प्रकार से आपके पति का मनोबल टूटने लगा था जिसे आपने कभी उसके मनोबल को टूटने नहीं दिया और लोगो के ताने से बचने के लिए यूपी के बुलंद शहर को छोड़ कर के दिल्ली आ गए ।

दिल्ली आने के लिए इतने भी पैसे नहीं थी की वंहा से दिल्ली आ सके तो 500 रूपये किसी से उधर ले कर के दिल्ली आये थे ।

आपने इक इंटरव्यू में बताया है है जब आप यूपी से दिल्ली आते है तो आपके पति जॉब खोजी लेकिन किसी भी प्रकार की नौकरी नहीं नहीं और बहुत कोशिश के बाद में एक खेती में काम मिला । खेती की काम करने के लिए खेत कर्ज में खेती ली और उसी खेत में सब्जी उगाने का काम करने लगे .

 Success BusinessMan Story In Hindi
Success BusinessMan Story In Hindi

जॉब भी नहीं मिल रहा था इसी को ऑप्शन मानकर के खेती शुरू की । धीरे-धीरे सब्जी उगने के बाद में भी रोजी नहीं निकल पा रही जिससे सिर्फ मात्र खुद का ही पेट पाला जा सकता था कोई एक्स्ट्रा इनकम भी नहीं हो रहा था तो वंहा से भी परेशानी होने लगी ।

जो अक्सर एक किसान के साथ में होता है सब्जी के उचित दाम न मिलने पर कितना परेशानी का सामना करना पड़ता है ।


IAS Officer Motivational Story In Hindi || IAS Motivational Story

छोटे से गांव से लाखो कमाने वाले Harsh Rajput Ki Success Story


और ऐसे करते करते धीरे धीरे से आमदनी करने के साथ में थोड़े बहुत पारिवारिक स्थिति ठीक पहले से ठीक था । अपने बातया है की आपके छोटे से किराया के रूम में रहती थी तो घर में छोटा सा टीवी था तो टीवी में बेरोजगार लोगो को अपने स्किल को बड़ा कर के स्वयं के लिए रोजगार से पैदा कर सके ये टीवी में दे रहे थे ।

और उस ट्रेनिंग संस्थान में अपनी पति को और खुद वंहा से अचार मुरब्बे बनाने की ट्रेनिंग ली । ट्रेनिंग में अपने सब्जी से कैसे आचार मुरब्बे कैसे बनाय इसकी ट्रेनिंग ली ।

अचार बेचने की शुरआत 

सं 2000 में उन्होंने मात्र 2 हजार रूपये से अचार बनाने की शुरुआत की और ट्रेनिंग लेने के बाद में खुद ही 5 किलो से अधिक की आधार बनाई और उसे अपने सब्जी को जैसे बेचा जाता है ठीक वैसे ही अचार को अपने पति की सड़क के किनारे में बेचने के लिए ले जाते थे लेकिन शुरुआत में कोई खुले में लेने से मन कर देते थे । तो अचार को बेचने के लिए 2 मटकी के पानी में के पास में अचार के डिब्बे रख कर के की ।

ये सोचकर की जब कोई व्यक्ति पानी पिने के लिए आएगा तो उसे अचार चख कर देखने के लिए कहेंगे और जिनको अचार अच्छा लगेगा तो खरीद लेगा । दोस्तों कहा भी गया है जब जिंदगी में सफल होना है तो हर चीज सफलता हमें करवाती है तो ठीक इनके साथ में हो रहा था ।

शुरुआत के दिनों में तो अचार नहीं बिक रहे थे लेकिन लोगो को जब अचार का अच्छा लगा तो 1 दो सफ्ताह के बाद में धीरे धीरे सौ – दो सौ रूपये बिकने लगे ।

और ऐसा करते करते धीरे धीरे अचार सड़क के किनारे में अचार बेचने की शुरुआत की और बाद में अच्छे से चलने लगे धीरे धीरे लोगो को अचार की स्वादिस्ट अच्छा लगने लगा और जिससे आमदनी भी अच्छी होने लगी थी । इस बीच में कई बार तो अचार ख़राब हो जाते थे जिससे और काफी ज्यादा नुसकान होते थे ।

और लोगो की डिमांड और अपने बिज़नेस को बड़े रूप में ले जाने के लिए बिज़नेस लाइसेंस बनाने के लिए लगभग 1 साल तक भटकते रहे लेकिन कही से उन्हें लाइसेंस नहीं दिया गया इस बीच में जब एक साल तक लाइसेंस नहीं मिले तो कई बार तो डिमोटिवेट हो जाते थे । लेकिन कहते है न दोस्तों जब हम सच्चे मन के साथ में कोशिश करते है तो उसे पूरा करने के लिए कायनात भी लग जाती है ठीक वैसा ही हुआ इनके साथ में एक सज्जन व्यक्ति ने लाइसेंस बना कर दे दिया ।

आज उनका कंपनी श्री कृष्णन पिकल्स के नाम से कंपनी नाम से लाइसेंस बना दिया और अचार बेचने की शुरूआत की । शुरुआत के दिनों में पहले दो- चार लोगो के साथ में मिलकर के काम शुरू की और धीरे धीरे अच्छा अचार बिकने लगे । आचार की खपत ज्यादा होने लगी , अचार की मांग ज्यादा होने लगी ।


छोटे से गांव से लाखो कमाने वाले Harsh Rajput Ki Success Story

यूट्यूब से लाखो कमाने वाले Manoj Dey Ki Struggle Story  


साल दो साल तक तो अच्छा चलने लगा और जब बहुत ही ज्यादा अचार की डिमांड बढ़ने लगी तब 5 हजार फ़ीट की जमीन खरीदी और वंहा पांच मंजिला का खुद का आज अचार बनाने की कंपनी शुरू कर दी । जंहा आज के समय में लगभग एक हजार से ज्यादा लोग काम कर रहे है ।

दोस्तों आज के समय में उनके इंडिया के कई जगहों में ट्रेनिंग सेंटर है जैसे की बिहार है , राजिस्थान है , दिल्ली में पांच से छह जगह में हुई थी जंहा से कई महिलाय ट्रेनिंग लेने के लिए जाते है ।

दोस्तों मई आपको बात दू की उनकी ये अचार पदाद , मुरब्बे की कृष्णा पिकल्स की कंपनी को ग्रो करते हुए आज के समय में 25 साल का समय हो गया है ।

आज उनकी स्थिति

दोस्तों कहते है की जिंदगी में सब कुछ बदला जा सकता है उसे बदलने की लिए एक कोशिश जरुरी है । कृष्णा यादव के पास में कुछ पहले कुछ भी नहीं था लेकिन धीरे धीरे थोड़े थोड़े कदम बड़ा कर के आज कई जगहों में ब्रांच है और आज की समय में उनकी कम्पनी करोडो की टर्नओवर है । जो कभी बिज़नेस में फ़ैल हो गया था । आज उनके पास में आचार की 200 से अधिक की वेराइटी का कलेक्शन है जो लोगो के डिमांड के हिसाब से बनाया जाता है ।

दोस्तों ये छोटी सी success businessman story in Hindi की Krishna Yadav की Rag To Riches Story आपको कैसी लगी आप लोग हमें कमेंट कर के बात सकते है और दोस्तों ये business motivational story in Hindi आपको अच्छी लगी होगी तो आप इसे अपने दोस्तों ले पास में ज्यादा से ज्यादा मात्रा में शायर जरूर कर दीजियेगा ।


NAINITAL MOMOS से लाखो कमाने वाले Ranjit Singh Ki Struggle Story  

फूलबासन बाई यादव का जीवन परिचय | Success Story Phoolbasan Bai Yadav


 

Leave a Reply